बिहार ने कोरोना को नियंत्रण करने के लिए कोरोना जागरूक करने के किये कोरोना अभियान 30 नवंबर को हर घर जाकर अभियान शुरू किया है। इसी अभियान के तहत सभी के घर जाकर कोरोना के पहले टिके के लियर प्रेरित करेगी और जिन्होंने पहली टिका लगाया है उने दूसरा टिका लगाया जायेगा। जिससे पुरे बिहार को टिका लगाया जा सके । 12 करोड लोगो ने पहली डोज़ तो ले ली है पर दूसरी डोज़ लेन के लिए आये नहीं तो उनके घर जाकर के उन्हें दूसरी डोज़ लगायी जाएगी और नये लोगो को प्रेरित करा जायेगा।

कोरोना टिका नहीं लगाने वाले 5 जिले
स्वास्थ्य विभाग की रिपोट के अनुसार 5 न्यूनतम कवरेज वाले जिले का पता लगाकर उन्हे कोरोना की डोज़ लगायी जाएगी। जहानाबाद , मधुबनी , औरंगाबाद , अररिया , जमुई , और बांका है । प्रखंड स्तरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर आयोजित करा जायेगा। इसके लिए करीब 8000 लोगो की एक टीम तैयार करी गई है। कोई भी कोरोना टिका से वंचित नहीं रहे।

सावर्जनिक और सरकारी जगहों पर चलेगा कोरोना प्रचार – प्रसार
बिहार के कॉलेज , स्कूल और अन्य जगहों पर कोरोना से बचने के लिए सरकारी और सावर्जनिक जगहों पर प्रचार प्रसार करा जायेगा। और अनेक प्रकार से कोरोना जागरूक अभियान चलाया जायेगा। ताकि कोरोना से बचने का तरीका बताया जायेगा और कोरोना को नियंत्रण करने का उपाए और लोगो को इसके लिए प्रेरित किया जायेगा।