मुस्लिम देश यूएई में जल्द ही ऐसा कानून आने वाला है जिसके तहत यहां गैर मुस्लिमों को शादी, तलाक और बच्चे को गोद लेने संबंधी कानूनी अधिकार दे दिए जाएंगे।मुस्लिम राष्ट्र संयुक्त अरब अमीरात(यूएई)  इस संबंध में एक नया कानून लाने वाला है. दुनिया में यूएई के इस कदम की काफी सराहना की जा रही है।

अभी तक यूएई में शरिया कानून के तहत ही शादी की अनुमति थी लेकिन अब नया कानून आने के बाद गैर मुस्लिम भी यूएई में शादी कर सकेंगे.इसके लिए अबुधाबी में स्पेशल एक अदालत भी बनेगी। जो इस तरह के मामलों को देखेगी।

अबू धाबी के शेख खलीफा बिन जायद अल-नाहयान (यूएई महासंघ के अध्यक्ष) ने नया आदेश दिया है जिसके तहत इस नए कानून में नागरिक विवाह, तलाक, गुजारा भत्ता, संयुक्त बाल हिरासत और पितृत्व का प्रमाण और विरासत शामिल है।

इस कानून का उद्देश्य अन्य खाड़ी देशों के मुकाबले यूएई की स्थिति को वैश्विक मंच पर बढ़ावा देना है।यह संयुक्त अरब अमीरात में नवीनतम और ऐतिहासिक कदम है। इससे पहले अन्य खाड़ी देशों की तरह यूएई में शादी और तलाक इस्लामी शरिया सिद्धांतों के आधार पर ही होते थे।