उत्तर-पश्चिमी हवा से देश के उत्‍तरी मैदानी हिस्सो में ठंड का असर देखने को मिल रहा है। सुबह-शाम के समय ठंड का अधिक असर देखने को मिल रहा है। राजधनी पटना के मौसम विज्ञान केंद्र के अनुसार बिहार में पछुआ हवा का प्रभाव निरंतर बना हुआ है। और वहीं से एक चक्रवाती परिसंचरण का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी में बनने के कारण तापमान में आंशिक गिरावट देखने को मिल रही है। प्रदेश में आने वाले दो-तीन दिनों में रात का तापमान 2-3 डिग्री नीची आ सकता है। सुबह और मध्यम स्तर का कोहरे का प्रभाव देखने को मिल सकता है। मौसम विज्ञानियों के अनुसार प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव अधिक होने की वजह से इस साल कड़ाके की ठंड हो सकती है। लकिन अभी तक इस प्रकार का सिस्टम प्रदेश में नहीं बन रहा है। राजधानी पटना, मौसम विज्ञान केंद्र से प्राप्त जानकारी के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश का मौसम शुष्क होने और न्यूनतम तापमान में 1-2 डिग्री की गिरावट दर्ज होने की सम्भावना हो सकती है। लकिन अधिकतम तापमान में कोई खास परिवर्तन देखने हो नहीं मिलेगा। अधिकतम तापमान की बात करे तो वो 26-28 डिग्री के बीच ही बने रहने की सम्भावना बनी हुई है।


बिहार के प्रमुख जिलों का तापमान
अधिकतम न्यूनतम
पटना – 28.6 14.0
गया – 27.1 11.2
भागलपुर – 27.9 15.5
मुजफ्फरपुर – 26.4 15.9
मोतिहारी 30.0 13.8
पूर्णिया – 28.2 14.8