बिहार के नालंदा जिले में 1 दिन के समय अंतराल में तीन ऐसी मौत मिली है जो की संदिग्ध अवस्था में है। बताया जा रहा है कि इन लोगों की मौत शराब पीने की वजह से हुई है इसके बाद से वहां हाहाकार मच गया है और पुलिस भी इस बात की जांच में एकदम जुट गई है। हालांकि यह वहां के थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद और नालंदा डीएसपी डॉ शिब्ली नोमानी वहां पर पहुंचे और शराब से मौत हुई है लोगों के परिजनों से मिले तथा इस बात की जानकारी ली।

 

पुलिस के अनुसार सोहसराय थाना इलाके की छोटी पहाड़ी और पहाड़ तल्ली मोहल्ला में तीन संदिग्ध लाशे मिली है जिनकी मौत का कारण शराब को बताया जा रहा है लेकिन इसकी पुष्टि होना भी बाकी है।

मृतकों के परिजनों के अनुसार इनकी मौत जहरीली शराब पीने की वजह से हुई है और आसपास में चुलाई शराब बनाने की खबरें भी आ रही है। लेकिन बात करें तो बिहार राज्य में पूर्ण शराबबंदी है फिर भी लोग खुद से शराब बनाते हैं और भेजते हैं जिसकी वजह से ऐसे मामले बहुत आते हैं।

लेकिन पुलिस की बात करें तो डीएसपी नोमानी ने कहा है कि इनमें से 2 लोगों की तबीयत खराब थी जिनका इलाज चल रहा था। मृतकों के शवों को अस्पताल में भेज दिया गया है जहां पर इनका पोस्टमार्टम किया जाएगा तथा इसके बाद ही पूरी बात पता चलेगी कि इनकी मौत बीमारी से हुई है या फिर जहरीली शराब पीने से।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शराबबंदी को पूरे राज्य में लागू कर रखा है और इस बारे में अधिकारियों को काफी अधिक निर्देश देकर इस को पूरी तरीके से लागू करने के लिए बैठकें भी की है। लेकिन फिर भी ऐसी बातें आती रहती है इसलिए सीएम ने अधिकारियों को आगाह भी किया था कि बिहार में इस कानून का काफी उल्लंघन होगा तो आप अच्छे से इसका पालन करवाएं।

 

लेकिन इतने कठोर निर्देश देने के बाद भी अभी ऐसी हालात है कि बिहार में ऐसी घटनाएं सामने आ रही है। इसी वजह से बिहार के मुख्यमंत्री ने शराबबंदी कानून को लेकर “समाज सुधार यात्रा” भी निकाली है लेकिन अभी देश में कोरोना चल रहा है जिसको वजह से अभी 21 जनवरी तक इसको रोक दिया गया है।

दोस्तों अपनी इस यात्रा के दौरान मंत्री जी बिहार में महिलाओं की सहायता से फिर देख ले रहे हैं और लोगों को शराब से होने वाले नुकसान के बारे में अच्छे से जागरूक कर रहे हैं। दोस्तों आज हमारा भी यही आग्रह है कि आप जहरीली शराब उसे बचे तथा अपने स्वास्थ्य तथा परिवार का ध्यान रखें।