पटना विकास के रास्ते पर चल रहा है और इसमें गाड़ियों के रास्ते अर्थात रोड बनाने के लिए काफी काम किए जा रहे हैं इसी के चलते पटना में एक और एलिवेटेड रोड का काम किया जाना तय है, पटना का पहला एलिवेटेड रोड जो कि दीघा से लेकर एम्स के बीच बना था उस पर अब गाड़ियां चलती है।

 

इससे अब गाड़ियों के जाम जैसी समस्या में राहत मिली है। इसके फायदों को देखते हुए अब पटना में और भी एलिवेटेड रोड का निर्माण करवाया जाएगा। पटना में गंगा पथ के भाग में नसरुद्दीन घाट से धर्मशाला घाट तक इस रोड का निर्माण करवाया जाएगा। इसका टेंडर भी जारी कर दिया गया है।

इस एलिवेटेड रोड की कुल लंबाई 2.9 किलोमीटर है जो कि 4 लेन का होगा पहले की योजनाओं के अनुसार बांध के ऊपर से ही रोड बनाने का प्रावधान था लेकिन अब राज्य पत्र विकास निगम ने एलिवेटेड रोड का टेंडर जारी कर दिया है।

जो कि लगभग 2 सालों में बनकर तैयार हो जाएगा। इस रोड के बन जाने से वहां के लोगों को काफी फायदा होने वाला है सबसे बड़ा फायदा तो यह है कि यहां पर जाम नहीं लगेगा। बताया जा रहा है कि पटना साहिब के धार्मिक स्थलों पर लोगों का सीधा आना जाना इसके बाद में आसान हो जाएगा। इस प्रोजेक्ट में कुल लागत करीब 535 करोड रुपए होगी।