बिहार में अब इथेनॉल का उत्पादन किया जायेगा। इसके लिए बंद पड़ी चीनी मिलों को वापस से खोला जायेगा। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उद्योग विभाग की उच्च स्तरीय बैठक में बताया कि नई चीनी मिलो को भी लगाया जायेगा। इथेनॉल के उत्पादन को शुरू होने से बिहार में बड़े पैमाने पर निवेशक आएंगे और राज्य में रोजगार के अवसर भी लोगो को प्राप्त होंगे। उद्योग विभाग की इस उच्च स्तरीय बैठक में मंत्री शाहनवाज हुसैन के साथ ही विभाग के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। गन्ने के साथ में मक्के से भी इथेनॉल के उत्पादन पर चर्चा की गयी। इथेनॉल उत्पादन यूनिट की स्थापना के साथ ही कई नई चीनी मिलो और अन्य संभावित उद्योगों की भी स्थापना पर चर्चा की गयी है।

रोजाना 75 लीटर के साथ साथ कई लोगो को रोजगार भी प्रदान होगा
इथेनॉल के उत्पादन में गति लाने के लिए बिहार सरकार ने ये एक बड़ा कदम उठाने जा रही है। इसके लिए बिहार राज्य के गोपालगंज जिले में सिधवलिया शुगर मिल को इथेनॉल प्लांट के रूप में स्थापित किये जाने का प्रयास किया जा रहा है। इस प्लांट के शुरू होने से किसानों की आय में बढ़ोतरी होगी, वहीं दूसरी ओर अन्य लोगों को भी रोजगार प्राप्त होने के अवसर मिलेंगे। दिसंबर महीने में इसका शुभारंभ किया जा सकता है। इसके साथ-साथ यहां प्रतिदिन 75 हजार लीटर इथेनॉल का उत्पादन किया जाएगा। बिहार सरकार और मंत्री के तरफ से ये एक बहुत बड़ी पहल की जा रही है।