बिहार में विकास के नए कार्य निरंतर जारी है, ऐसे में बिहार के लिए एक और बड़ी खुशखबरी आयी है | यूपी के बाद अब बिहार में भी एक्सप्रेस का निर्माण किया जायेगा, बिहार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने इसकी जानकारी गुरुवार को पटना में दी | उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की तरह ही पटना-कोलकाता एक्सप्रेस वे का निर्माण किया जायेगा | इससे बिहार विकास के नए आयाम को छूने में कामयाब होगा |

क्या है सरकार का लक्ष्य
पथ निर्माण मंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि भारत माला फेज-वन तहत पटना में रिंग रोड का कार्य चल रहा है | बिहार में नितीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए गवर्नमेंट ने सड़को के कायापलट का दवा किया है, प्रधानमंत्री ने कहा है की राज्य में प्रत्येक गांव के 40 किलोमीटर के दायरे में फोर लेन सड़क होनी चाहिए | इन सड़को के निर्माण के पूरा होने के के बाद बिहार में भी यूपी जैसी सड़के देखने को मिलेंगी |

जानिए क्या होगा रुट
आपको बता दे कि भारतमाला फेज-टू के तहत बनने वाला पटना -कोलकाता एक्सप्रेस वे बिहार की पहली ऐसी सड़क होगी जिसमे बीच में कोई वाहन देखने को नहीं मिलेगा मतलब की यह एक्सेस रिस्ट्रिक्टेड सड़क होगी | इस सड़क का रुट पटना-बख्तियारपुर से होते हुए बख्तियारपुर-रजौली और फिर वहां से बिहार शरीफ के नालंदा से इसका अलाइनमेंट किया जायेगा | ये सड़क शेखरपुरा, सिकंदरा, चकाई, मधुपुर, दुर्गापुर एवं पानागढ़ होते हुए ढालकुनी से आगे निकलेगी |