दोस्तों बिहार सरकार काफी तेजी से बिहार का विकास करने में जुटी हुई है और केंद्र सरकार भी बिहार सरकार का अच्छे से साथ दे रही है अभी कुछ समय पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को विकास के रास्ते पर आगे ले जाने के लिए “गति से प्रगति” नाम से एक अभियान शुरू किया था जिसके तहत बिहार यूपी झारखंड समेत देश के कई राज्यों में अनेक विकास योजनाओं पूरा करने का काम जारी है।

 

इस अभियान के तहत बिहार में काफी काम किए गए हैं जिनमें से चार एक्सप्रेस, गंगा नदी पर 14 पुल और बुलेट ट्रेन जैसी व्यवस्थाएं की जा रही है। और अब बिहार के विकास क्रम को आगे बढ़ाते हुए बिहार में 5 ऐसे शहरों को चुना गया है जहां पर मल्टीमॉडल कनेक्टिविटी हब बनाए जाएंगे अर्थात ऐसी जगह है जहां पर सड़क, रेल और जहाज के जंक्शन एक साथ जुड़ेंगे। ऐसा करने से बिहार और देश का विकास अच्छे से होगा क्योंकि यातायात को एक नई दिशा मिल जाएगी तथा व्यापार को गति मिलेगी।

केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री गति शक्ति योजना के तहत राज्यों से मल्टीमॉडल हब बनाने के लिए जगह का प्रस्ताव मांगा है। इस कार्य में केंद्र सरकार और राज्य सरकार की एजेंसियां मिलकर इसकी संभावना तलाश रही है कि कहां पर ऐसे हब बनाए जाए। आपको बता दिया कि ऐसी व्यवस्था के लिए पटना, हाजीपुर, कटिहार, भागलपुर और बक्सर सर्वश्रेष्ठ जगह है साबित हो सकती है और इनके लिए संभावनाएं भी तलाश की जा रही है। इन जगहों पर जल मार्ग, सड़क मार्ग और रेल मार्ग को जोड़कर भारत के विकास को एक नई गति देने का अच्छा प्लान बनाया जा रहा है।

बिहार के अलावा इन राज्यों में भी होगा यह काम: दोस्तों बिहार के अलावा केंद्र सरकार द्वारा पांच और राज्यों को इस योजना में शामिल किया गया है जो कि उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, झारखंड, छत्तीसगढ़ और ओडिशा है। इसके अलावा बिहार राज्य लॉजिस्टिक पॉलिसी पर काम कर रही है जिसमें बिहार का स्थानीय स्तर पर औद्योगिक विकास करना संभव हो पाएगा। इसके लिए बिहार द्वारा बड़े शहरों के अलावा कई छोटे-छोटे शहरों का भी आकलन किया जा रहा है।