राजधानी पटना में विदेश से आए हुए तीन लोग, दो डॉक्टर, एक डॉक्टर की बेटी, पांच स्वास्थ्यकर्मी के साथ साथ में कुल 136 नए कोरोना के संक्रमित मिले हैं, और इसके साथ में अब सक्रिय संक्रमितों की संख्या 405 हो गई है। इसके साथ ही साथ में 100 ऐसे भी संक्रमित शामिल हैं जो की संक्रमण के सात दिन बाद हुई जांच में फिर से पॉजिटिव मिले हैं।

 

इसके साथ में एम्स में चार महीने के बाद एक दिन में सबसे अधिक चार कोरोना संक्रमित को भर्ती कराया गया है। जो भी नए संक्रमित मिले हैं उनमें दानापुर से लेकर के राजधानी पटना सिटी तक के मोहल्ले शामिल किये गयी है। जिला स्वास्थ्य समिति के द्वारा मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है की नए कोरोना संक्रमितों में सबसे अधिक ही राजधानी पटना सिटी के आस पास के हैं। पिछले 24 घंटे में चार डॉक्टर के साथ साथ में 10 स्वास्थ्यकर्क्मित भी संक्रमित पाए जा चुके हैं। शनिवार को एम्स पटना के दो डॉक्टर के साथ मे सात स्वास्थ्यकर्मी भी संक्रमित मिले। इनमें से एक डॉक्टर जो की दो दिन पहले ही अंडमान से लौटे थे, और वहीं, पीएमसीएच की एक डॉक्टर की बेटी भी संक्रमित के चपेट में आ गयी है।

USA, UK और नीदरलैंड से लौटे हुए लोग भी संक्रमित पाए गए

राजधानी पटना के तीन मोहल्ले में ऐसे भी लोग संक्रमित पाए गए हैं, जो की विदेश से आए हैं। इसमें पीसी कॉलोनी का संक्रमित USA से, लोहियानगर नगर निवासी UK से तथा कदमकुआं से मिला संक्रमित नीदरलैंड से वापस लोटे है। सिविल सर्जन कार्यालय के द्वारा इनके संपर्क में आए हुए लोगों का सैंपल शनिवार को लिया जा चूका है।

राजधानी पटना के आस पास के इलाके

शनिवार को मिले कोरोना संक्रमितों में ग्रामीण क्षेत्र के करीब तीन को छोड़ सभी संक्रमित लोग पटना के शहरी इलाके के हैं, जबकि ग्रामीण क्षेत्र के तीन संक्रमितों में दो लोग दुल्हिनबाजार के हैं। शहरी क्षेत्र के संक्रमित लोगो जो की पटना सिटी, कंकड़बाग, राजेंद्रनगर, मखनिया कुआं, कुम्हरार, हनुमाननगर, पीएमसीएच, जगदेवपथ, शास्त्रीनगर, नेपाली नगर, एग्जीबिशन रोड, बाकरगंज, महेंद्रू, गोलघर, बुद्धा कॉलोनी, रुपसपुर, गोला रोड, बोरिंग रोड, दीघा, पटेलनगर, पीसी कॉलोनी, दरियापुर, बाकरगंज, खेतान मार्केट, कदमकुआं, जकनपुर, गर्दनीबाग, फुलवारीशरीफ, अनीसाबाद, कुर्जी आदि अन्य इलाकों के आस पास के ही हैं।

एनएमसीएच में 16 डॉक्टर एक साथ मिले संक्रमित

एनएमसीएच की सेंट्रल इमरजेंसी में शनिवार को रैपिड एंटीजन के जरिये 75 डॉक्टरों की जांच की गयी थी। उसमे से 16 डॉक्टर की रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गयी है। उन सभी डॉक्टरों की आरटीपीसीआर जांच करवाई जा रही है। उनमे से दो दिन पहले ही अस्पताल के कई डॉक्टरों ने आईएमए के सम्मेलन में भाग लिया, और उनमे से कोरोना के लक्षण मिलने पर अस्पताल की सेंट्रल इमरजेंसी में एंटीजन के द्वारा जांच की गयी, और अबतक ही हुए जांच में अब 16 की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है।

नालंदा की कोरोना संक्रमित के कारण भर्ती हुई एक महिला

एनएमसीएच कोरोना नोडल सेंटर में 1 जनवरी 2022, शनिवार को एक और कोरोना संक्रमित को भर्ती किया गया था। एपिडेमियोलॉजिस्ट डॉ. मुकुल कुमार सिंह व अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार सिंह के द्वारा बताया जा रहा है कि नालंदा जिले के चंडी गांव की करीब 40 वर्षीया महिला इलाज के लिए एनएमसीएच में आई थी, और यहां जांच करने के बाद वह महिला संक्रमित पायी गयी। 27 दिसंबर 2021 को भर्ती किये गए वैशाली जिले के जुड़ावनपुर के 20 वर्षीय युवक को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।