बिहार राज्य के कम खर्च पर बेहतर तकनीक तरीके से कचरा प्रबंधन को प्रोत्साहित करने हेतु स्वच्छ भारत मिशन 2.0 के तहत बिहार के सभी शहरी निकायों में स्वच्छ तकनीक को चैलेंज करना शुरू किया गया है। इसमें कचरा प्रबंधन के इस क्षेत्र में काम करने वाले लोगो, स्टार्टअप कंपनियों और साथ साथ में शैक्षणिक संस्थाओं को प्रोत्साहित किया जा रहा है, और इसमें इस चैलेंज के तहत इसमें तकनीक के आधार पर कचरा प्रबंधन कार्य पर आइडिया मांगे जा रहे हैं, और इसमें बेहतरीन आइडिया देने वाले को राष्ट्रीय स्तर पर भेजा जाएगा। इस चैलेंज में राष्ट्रीय स्तर पर जाने वालो को अंतिम रूप से चयनित 10 बेहतरीन आइडिया देने वालो को 25-25 लाख रुपये की सीड फंडिंग प्राप्त होगी। इसके साथ साथ ही फ्रेंच टेक से एक साल तक का इन्क्यूबेशन सपोर्ट भी दिया जाएगा। और वहीं पर राज्य स्तर पर चुनी जाने वाली 5 लोगो को भी स्वच्छ भारत मिशन के तहत इन्हे भी सहायता प्रदान की जाने की योजना बनायीं जा रहे है। इस मिशन में आने वाले सभी लोगो में से पहले स्थान पर आने वाले को पांच लाख, दूसरे स्थान को ढाई लाख, तीसरे स्थान को डेढ़ लाख, चौथे को एक लाख और पांचवें को 75 हजार रुपये प्रदान किये जाएंगे।

30 दिसंबर तक ही होगी इंट्री
बिहार राज्य के नगर विकास एवं आवास विभाग ने राज्य के सभी शहरी निकायों से 30 दिसंबर 2021 तक इंट्री दी जाने की अंतिम तिथि रखी गयी है। इसमें प्रत्येक शहरी निकायों के दो-दो इनोवेटिव आइडिया विभाग को भेजना होगा। सभी निकायों से मिले इन सभी इनोवेटिव आइडिया में से सबसे बेहतरीन वाले तीन आइडिया को राज्य स्तर पर चयनित किया जायेगा और इसे केंद्र को भेजे जाने की योजना बनायीं जा रही है। इसमें शामिल सभी राज्यों से मिलने वाले तीन सबसे अच्छे समाधानों को 15 जनवरी को स्वच्छता स्टार्ट अप चैलेंज 2022 की शुरूवात की जाएगी।