दोस्तों देश में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं और बिहार में भी इसका प्रकोप देखा जा रहा है इस समस्या को देखते हुए आमिर सुबहानी की अध्यक्षता में एक क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक बुलाई गई थी इस बैठक में सभी एसपी और डीएम को अपने क्षेत्र में कोरोना की गाइडलाइन को सही तरीके से पालन करवाने के लिए 3 दिन का एक अभियान चलाया जा रहा है जिसमें काफी सख्ती से नियमों का पालन करवाया जाएगा।

वैसे तो बिहार सरकार और देश में काफी नए नए कानून बनाए जा रहे हैं ताकि कोरोना पर नियंत्रण रख सके और देश को तीसरी लहर से बचा सके। लेकिन बिहार में लेकिन बिहार में 4 जनवरी से ही काफी ऐसे कदम उठाए गए हैं। सरकार ने गाइडलाइन भी प्रस्तुत की थी अब इसका पालन करवाने के लिए यह बैठक बुलाई गई थी और इस बैठक में मुख्य सचिव आमिर सुबहानी का कहना है कि कोरोना के केस दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं और ऐसा देखते हुए हमें कुछ ना कुछ सख्त कदम उठाने होंगे इसीलिए अब बिहार में 3 दिन तक सभी जगह पर सख्त नियम लगाया जाएंगे ताकि कोरोना गाइडलाइन का सही तरीके से पालन किया जा सके।

सख्त सजा दी जाएगी

गाइडलाइन के अनुसार कोरोना के इस माहौल में मास्क ना लगाने वाले और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने वाले लोगों को सख्त सजा दी जाएगी तथा अब हर गाड़ी और लोगों की जांच होगी। कोरोना के केस बढ़ने के चांस वहां जाता है जहां भीड़ ज्यादा होती है इसलिए सरकार द्वारा बाजार में ज्यादा सख्ती बरती जाएगी साथ ही दुकानों अन्य भीड़भाड़ वाली जगहों जैसे अस्पतालों में भी ठोस कदम उठाने होंगे। इस बैठक में यह सुनिश्चित किया गया है कि जिला प्रशासन इसकी देखभाल खुद करें तथा तत्काल एक ऐसी टीम का गठन करें जो कि इस मामले में पूरा ध्यान दें और गाइडलाइन का अच्छे से पालन करवाएं।