बिहार में यातायात की सेवाओं के लिए काफी काम किए जा रहे हैं। और इसमें भारतीय रेल का काफी बड़ा योगदान है अब भारतीय रेल द्वारा लगातार बिहार उत्तर प्रदेश झारखंड जैसे पूर्वी राज्यों में ऐसी सुविधाएं बढ़ाने के लिए काफी काम किए जा रहे हैं। इसी बीच बिहार के लिए एक काफी अच्छा समाचार है कि साल भर के भीतर बिहार की राजधानी पटना से होते हुए एक नंबर डेकर ट्रेन गुजरेगी।

जिसके लिए केंद्र सरकार और रेलवे बोर्ड मिलकर काम कर रहे हैं। हाल ही में यह ट्रेन लखनऊ से दिल्ली तथा दिल्ली से लेकर जयपुर तक चलती है लेकिन अब जल्द ही है पटना के रास्ते दिल्ली से हावड़ा के रास्ते भी चलने लगेगी।

जल्दी बहुत नए डबल डेकर ट्रेन चलाने की परमिशन दे दी है और अब इसके कार्य पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है। जो ट्रेन अभी दिल्ली से जयपुर के लिए चल रही है वहीं बाद में दिल्ली से बिहार होते हुए हावड़ा के लिए चलेगी। डबल डेकर ट्रेन चलने से किराया में काफी कमी आ जाएगी क्योंकि यह एक साथ कई यात्रियों को लेकर जाती है। हालांकि तेजस और शताब्दी जो कि 6:30 घंटे दिल्ली से लखनऊ पहुंचने में लगाती है वहीं अब डबल डेकर ट्रेन 8 घंटे में यह सफर तय करेगी लेकिन इसका किराया कम होने की वजह से यात्रियों को काफी सुविधाएं होगी।

कोरोना के चलते 2 साल में इसका काम अभी रुक रखा था लेकिन रेलवे बोर्ड की अनुमति के बाद इसका काम जोर पकड़ रहा है। तेजस और शताब्दी एक्सप्रेस का किराया काफी ज्यादा था जोकि 1400 से लेकर 2400 रुपए तक है। तेजस का किराया तो 2000 से अधिक है। डबल डेकर ट्रेन के चलने से किराया काफी कम हो जाएगा अगर डेढ़ साल पहले की बात करें तो डबल डेकर ट्रेन का लखनऊ से आनंद विहार टर्मिनल के लिए किराया सिर्फ 645 रुपए था। तो अब शायद 800 से 900 के बीच इसका किराया होने की आशंका है।