भारतीय प्रीमियर लीग (IPL) अप्रैल के महीने में शुरू होने वाली है इसके लिए बीसीसीआई ने काफी तैयारियां पूरी कर ली है अब 11 12 और 13 फरवरी को मेगा ऑप्शन भी होने वाले हैं जो कि बेंगलुरु में आयोजित होंगे। और इस बार आईपीएल में 8 की जगह 10 टीमें खेलेंगी दो नई टीम में अहमदाबाद और लखनऊ की टीम है। अतः सभी भारतीयों को और विदेशी लोगों को भी आईपीएल के शुरू होने का काफी बेसब्री से इंतजार है।

 

लेकिन पूरे विश्व में कोरोना के केस फिर से बढ़ रहे हैं और भारत में भी यह केस काफी तेजी से बढ़ रहे हैं तो क्या इस बार भी पिछले बार की तरह कोरोनावायरस को दूसरे देश में शिफ्ट कर देगा। हालांकि बीसीसीआई ने पूरी तैयारी कर ली है ताकि कोरोना इस बार परेशान ना करें लेकिन फिर भी अगर ऐसा होता है तो बीसीसीआई ने एक दूसरा प्लान भी बना कर तैयार का है जिसमें कि दूसरे देशों में आईपीएल को शिफ्ट किया जा सके। जैसे कि पिछली बार आधा आईपीएल भारत में करवाया गया था तथा बाकी के मैच यूएई में शिफ्ट किए गए थे।

दोस्तों अगर इस बार भी ऐसा होता है तो बीसीसीआई ने अपना प्लान बी बना कर तैयार रख रखा है जिसमें वह बाकी के मैच को दूसरे देशों में शिफ्ट करवा सकें लेकिन पिछली बार की तरह है यह देश यूएई नहीं होगा बल्कि खबरों के अनुसार यह पता चल रहा है कि इस बार अगर ऐसा हुआ तो श्रीलंका या दक्षिण अफ्रीका में से कोई से देश में आईपीएल के मैच करवाए जाएंगे। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 2009 में भी दक्षिण अफ्रीका में T20 लीग का आयोजन किया गया था। इससे पता चलता है कि अब बीसीसीआई ऐसे कामों के लिए केवल यूएई पर ही निर्भर नहीं रहेगा। इसलिए दूसरे विकल्पों के बारे में भी सोचना शुरू किया है।

दोस्तों बीसीसीआई के अधिकारियों के अनुसार साउथ अफ्रीका और भारत के समय में भी ज्यादा अंतर नहीं है इसलिए फैंस को ज्यादा परेशानी नहीं होगी और भी है समय उनके लिए अनुकूल भी साबित हो सकता है। आपको बता दें कि दक्षिण अफ्रीका का समय भारत के समय से 3 घंटे 30 मिनट आगे चलता है अर्थात अगर साउथ अफ्रीका में 4:00 बजे मैच शुरू होता है तो भारत में उस टाइम 7:30 बज रहे होंगे। इससे खिलाड़ियों को भी ज्यादा परेशानी नहीं होगी और वह जल्दी से मैच खत्म करके अपना समय पर सो पाएंगे।

बीसीसीआई ने दक्षिण अफ्रीका के लिए प्लान इसलिए बनाया है क्योंकि इस समय दक्षिण अफ्रीका में ही भारतीय टीम गई हुई है और वहां पर टेस्ट सीरीज अच्छे से संपन्न हो रही है इसके पहले भारतीय ए टीम भी वहां गई थी तथा उनको भी किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा जबकि दक्षिण अफ्रीका में ही ओमिक्रॉन के केस पाए गए थे फिर भी सब कुछ सही से चल रहा है। दक्षिण अफ्रीका का मैनेजमेंट काफी अच्छा है और सारे काम काफी सही तरीके से करवा रहा है इसलिए भारतीय खिलाड़ी भी इस बात से काफी संतुष्ट है।

बीसीसीआई के सामने श्रीलंका के रूप में दूसरा विकल्प भी मौजूद है लेकिन ज्यादा चांस दक्षिण अफ्रीका के ही लग रहे हैं। अगर अप्रैल महीने में कोरोना के केस बढ़ते हैं या ज्यादा परेशान करता है तो दक्षिण अफ्रीका में आईपीएल का आयोजन हम देख सकते हैं।