शादी के 8 महीने के बाद ही एक पति को अपनी पत्नी के लिए थाना जाना पड़ गया। पुलिस स्टेशन में आवेदन देकर पति प्रकाश रंजन न्याय की मांग करने की जरुरत पड़ गयी है। प्रकाश रंजन की पत्नी उन्हें छोड़कर मायके चली गई, और जब पत्नी को मनाने के लिए वे जब ससुराल पहुंचे तो साले ने पीटना शुरू कर दिया। फिर इसके बाद पत्नी भी साथ चलने को राजी नहीं हुई। और मामला पंचायत तक जा पहुंचा।

अप्रैल में हुई थी शादी


प्रकाश रंजन अपनी पत्नी को अपने साथ में रखना चाहता है। थाने में दिए आवेदन के अनुसार नवादा जिले के सुंदरा गांव में रहने वाले प्रकाश रंजन की शादी अकबरपुर प्रखंड के भनैल गांव में इसी साल 25 अप्रैल को हुई थी। दोनों की शादी बड़ी ही धूमधाम से हिंदू रीति-रिवाज के अनुसार की गयी थी। और शादी के बाद दोनों मुंबई में रहने लगे थे। तीन महीने बाद ही जुलाई में पत्नी रजनी कुमारी पति को छोड़कर मायके अपने गांव चली आई। i

पंचायत के दौरान भी नहीं हो सकी सुलह


प्रकाश रंजन ने बताया कि एक दिन उसकी पत्नी ने अचानक ही नए मोबाइल की डिमांड करना शुरू कर दी। इसके बाद ही मोबाइल लेकर पत्नी को मनाने के लिए जब वो अपने ससुराल पंहुचा। लेकिन, वहां तो साले ने पहुंचते ही पिटाई करना शुर कर दी। पत्नी ने भी कह दिया कि में आपके साथ नहीं रहना चाहती हूँ। फिर लड़का इस मामला को लेकर एक हफ्ते बाद गांव में पंचायत बुलाई। इसके बाद पंचयतो ने कहा कि लड़की पक्ष को डेढ़ लाख रुपए दे दो और रिश्ता हमेशा के लिए यही पर छोड़ दो।

पत्ति की दिमागी हालत ठीक नहीं


पंचायत की ओर से फैसला होने के बाद प्रकाश रंजन निराश हो गए और आवेदन के लिए नवादा सदर थाना पहुंच गए। उन्होंने पुलिस स्टेशन पर न्याय की गुहार लगाई है, और वह अपनी पत्नी के साथ रहना चाहते हैं। और इधर, पत्नी का आरोप है कि पति प्रकाश रंजन की दिमागी हालत ठीक नहीं है। इसलिए वो अपने पति हो छोड़ना चाहती है।