आज ही के दिन यानी 8 दिसंबर को 10 साल पहले 2011 में वीरेंद्र सहवाग ने वनडे क्रिकेट में दौहरा शतक लगाया था ये कारनामा उन्होंने इंदौरे में वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेले जा रहे वनडे मैच में करके दिखाया था , इस सीरीज में वो टीम इंडिया की कप्तानी भी कर रहे थे , तो बतौर कैप्टन वनडे में दौहरा शतक लगाने वाले वे पहले बल्लेबाज बन गए थे।
हालांकि उनसे पहले सचिन तेंदुलकर ने वनडे क्रिकेट में दौहरा शतक जड़ा था , सचिन ने 24 फरवरी 2010 में ग्वालियर वनडे में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलते हुए दौहरा शतक लगा कर विश्व के पहले क्रिकेटर बन गए थे जिन्होंने दौहरा शतक लगा था ।अब तक पूरे विश्व में 6 ही इसे खिलाड़ी हुए है जिन्होंने दौहरा शतक लगाया हो ।

आपको बता दे कि नवंबर 2011 में वेस्ट इंडीज की टीम 3 टेस्ट और 5 वनडे मैच खेलने के लिए भारत आयी थी, इसमें पहले तो महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में 2-0 से टेस्ट सीरीज अपने नाम कर ली थी , बाद में हुए वनडे मुकाबलों में धोनी की अगुआई में तीन में से दो मैच जीत के बढ़त बना रखी थी , चौथे वनडे की कप्तानी वीरेंद्र सहवाग ने की थी , जबकि पांचवा टेस्ट गंभीर की कप्तानी में खेला गया ।
बात है चौथे टेस्ट की जिसकी कप्तानी करते हुए सहवाग ने टॉस जीत कर बल्लेबाजी करने का फैसला किया और गंभीर के साथ मिलकर 176 रनो की एक शानदार ओपनिंग पार्टनरशिप की । इस शानदार फॉर्म का फायदा उठाते हुए सहवाग ने 149 गेंदों का सामना करते हुए 7 छक्के और 25 चौको की मदद से 219 रन बनाए । भारत ने 418/5 का स्कोर करके वेस्ट इंडीज को 265 रनो पर रोकने में सफल हुए और 153 रनो से एक विशाल जीत हासिल की ।
बतौर कप्तान वनडे के अब तक केवल दो दौहरे शतक :-
वनडे में कप्तानी करते हुए सहवाग ने पहला दौहरा शतक 2011 में लगाया था , इसके 6 साल बाद ही 2017 में हिट मैन रोहित शर्मा ने ये कारनामा किया और मौहली स्टेडियम में श्रीलंका के खिलाफ 153 गेंदों का सामना करते हुए 208 रन बनाए ।
रोहित की वनडे में सबसे ज्यादा डबल सेंचुरी :-
वैसे तो अब तक विश्व में अब तक 6 खिलाड़ियों ने डबल सेंचुरी बनायीं है , भारत के 3 खिलाड़ी सचिन , सहवाग और रोहित शर्मा , जबकि तीन विदेशी है , पाकिस्तान के फखर जमां , वेस्ट इंडीज के क्रिश गैल, और न्यूजीलैंड के मार्टिन गप्टिल , लेकिन रोहित शर्मा ने सबसे ज्यादा 3 डबल सेंचुरी बनाई है ।