लगातार बढ़ रहे प्रदुषण के कारण सांस लेना भी आसान नहीं रहा , ऐसी हवा में सांस लेने से बीमारिया बढ़ रही है। वायु प्रदुषण के कारण दिल्ली सरकार ने इसे कम करने के लिए सभी मोटर वाहनों पर डीजल – पेट्रोल और CNG का स्टिकर लगाना जरुरी कर दिया है। दिल्ली परिवहन निगम के अनुसार अगर इन नियमो का उलंघन करते हुए कोई पाया गया तो उसे भारी जुरमाना देना होगा।

दिल्ली परिवहन निगम के आदेश के अनुसार उन्होंने कहा है कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश और सेंट्रल मोटर वाहन अधिनियम -1989 के अनुसार दिल्ली में रेजिस्टर्ड सारे वाहनों पर क्रोमियम से बनी होलोग्राम स्टिकर लगवाना आवश्यक है। अगर कोई भी इन बातो का उलंघन करेगा तो उस पर 10000 रुपए का जुर्माना लगाया जायेगा
दिल्ली सरकार ने प्रदुषण को काम करने के लिए इस से पहले भी बहुत से उपाय किये है। दिल्ली सरकार ने ओड इवन नियम लगाया था ताकि ट्रैफिक काम हो सके और उस से वायु प्रदुषण काम हो जाये। लेकिन इतना खास प्रभाव पड़ा नहीं। अब जब हर जगह वर्क फ्रॉम होम चल रहा है तो बहुत हद तक ट्रैफिक काम हुआ है। दिल्ली सरकार ने दिल्ली में चल रहे बहुत से कंस्ट्रक्शन के काम पर भी रोक लगा के रखी है।