डेस्क: भारत में को’रोना वा’यरस का क’हर जारी है. अबतक भारत में कुल 6412 कोरोना पोसि’टिव मरी’ज मिले है . जिनमे म’रने वालो की संख्या 199 तक पहुच गयी है. जिसपर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने को’रोना वा’यरस (Coronavirus) के बढ़ते प्र’कोप को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने गुरुवार को कहा कि को’रोना को भारत में घु’सने से रोक’ने की जिम्मेदारी केंद्र सरकार की थी. अगर विदेश से आने वालों की समय पर जांच कर उन्हें अलग कर दिया गया होता तो यह वा’यरस देश में इतना ज्यादा नहीं फैल पाता.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आगाह किया है कि कोविड-19 के कई रो’गियों में लक्षण बहुत देर से दिखाई देते हैं और यही कारण है कि वाय’रस को रो’कने के लिए तेजी से परीक्षण की आवश्यकता है. अपने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में मामलों की संख्या कम होने का कारण यह है कि राज्य में बचाव के उपाय कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा मुद्दे को उठाए जाने के बाद से ही शुरू कर दिए गए थे. उन्होंने कहा, “13 मार्च को हमने स्कूल, शॉपिंग मॉल और आंगनवाड़ी सहित कई जगहों पर लॉ’कडाउन कर दिया था.”

बघेल ने कहा, “हमने 15 मार्च को पहला परीक्षण किया था और 18 मार्च को पहला पॉजि’टिव मामला सामने आया, जिसके तुरंत धारा-144 लागू कर दी गई.”

बघेल ने कहा, “चिं’ता की बात यह है कि एक व्यक्ति को 18 दिनों के एकांतवास के बाद लक्षण दिखाई दिए. एक व्यक्ति ने फरवरी में यात्रा की थी और उसे दो महीनों बाद लक्षण दिखाए दिए. हमने केंद्र सरकार को सूचित कर दिया है. ”राज्य में कुल 76,000 लोगों को एहतियात के तौर पर एकांतवा’स में रखा गया है. उन्होंने कहा कि लॉकडाउन को राज्यों से परामर्श के बाद ही लागू किया जाना चाहिए.

अंतर्राज्यीय यात्रा प्र’तिबंध हटा’ने के बारे में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री को एक पत्र लिखा है, जिस पर 11 अप्रैल को चर्चा की जा सकती है.

सीएम बघेल ने लिखा था पीएम मोदी को पत्र

सीएम बघेल ने छह अप्रैल को प्रधानमंत्री को लिखा था कि लॉकडा’उन अवधि समाप्त होने के बाद अंतरराज्यीय यात्रा की अनुमति देने से पहले सरकार को यात्रियों की स्क्रीनिंग की एक रणनीति बनानी चाहिए. उन्होंने कहा है कि कोरो’नावा’यरस के मामलों को छान’ने के लिए एक तंत्र स्थापित करना चाहिए, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि यह एक जगह से दूसरी जगह पर नहीं फैल रहा है.

मुख्यमंत्री ने पत्र में लिखा है, “अगर उड़ानें, रेल और अन्य परिवहन बहाल होते हैं तो संभावना है कि सं’क्रमित व्यक्ति राज्य में आ सकते हैं और स’मस्या बनी रह सकती है. इससे राज्यों को इस वा’यरस से निप’टने में स’मस्या का सामना करना पड़ेगा.” मालूम हो कि कोरो’ना वा’यरस को देश में फैलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार ने बीते 25 मार्च से पुरे देश में lockdown लगा रखा है . 14 अप्रैल को यह lockdown हटने वाला है , लकिन मौजूदा स्तिथि को देखते हुए lockdown की समयसीमा बढ़ायी जा सकती है .

source- tv9bharatwarsh

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *