नीतीश का ड्रीम प्रोजेक्टः 7700 करोड़ रुपए की लागत से बनेगा बिहार का पहला एक्सप्रेस वे, इतनी किलोमीटर है सड़क की लंबाई

0
7

पटनाः बिहार में पहले एक्सप्रेस वे बनाने की कवायद शुरू हो गई है. इसके लिए हलचल तेज हो गई है. 190 किलोमीटर लंबे आमस-दरभंगा एक्सप्रेस वे को एनएच का दर्जा दिया जा चुका है. जमीन अधिग्रहण से लेकर पैकेज पर चर्चा शुरू हो गई है. यह बिहार का सबसे बड़ा परियोजना है जिसकी लागत 7700 करोड़ रुपए है. वहीं 5 पैकेज में बनने वाली बड़ी परियोजना है जो पूरी तरह ग्रीन फील्ड होगी.

इसके निर्माण होने से राज्य के बड़े हिस्से से 4 घंटे में राजधानी पहुंचना आसान हो जायेगा. राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के क्षेत्रीय पदाधिकारी चंदन वत्स का कहना है कि बिहार में आमस से दरभंगा तक बनने वाले एक्सप्रेस वे से युगांतकारी बदलाव आएगा. राज्य के किसी भी हिस्से से पटना आने में मात्र 5 घंटा समय लगने का लक्ष्य सीएम नीतीश कुमार ने रखा है. इस परियोजना के पूरा हो जाने पर राज्य के बड़े हिस्से से 4 घंटे में ही पटना पहुंचना संभव हो सकेगा. 7 जिलों के 239 गांव में इसके लिए जमीन अधिग्रहण होगा.

अंतिम चरण में जमीन अधिग्रहण का काम

बता दें कि बिहार के पहले एक्सप्रेस वे की जमीन अधिग्रहण का काम एडवांस स्टेज में है. चंदन वत्स ने बताया कि तीन कैपिटल A का प्रकाशन हो चुका है. इस महीने के अंत तक 3D का प्रकाशन तीन फेज के लिए करने की कोशिश की जा रही है. 2024 तक इसे पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है. इससे पहले कच्ची दरगाह बिदुपुर सिक्स लेन पूरा हो जाएगा. इस परियोजना को सिक्स लेन गंगा ब्रिज से लिंक करना है. बिहार के लिए यह एक बड़ी परियोजना है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here