शहाबुद्दीन को सजा दिलाने वाले चंदा बाबू का निधन, बाहुबली से लड़ी थी लंबी न्यायिक लड़ाई

0
22

सीवानः बिहार के बाहुबली नेता शहाबुद्दीन को सलाखों के पीछे पहुंचाने वाले तेजाब कांड के गवाह चंद्रकेश्वर प्रसाद उर्फ चंदा बाबू का निधन हो गया है. उनका निधन बुधवार (16 दिंसबर) की देर शाम पैतृक आवास पर हो गया. परिजनों ने इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

सदर अस्पताल के चिकित्सकों कहना है कि चंदा बाबू का निधन हार्ट अटैक से हुई है. उनके निधन की सूचना मिलते ही आवास पर काफी संख्या में नेताओं सहित अन्य लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी. दरअसल, चंदा बाबू पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ थे.

शहाबुद्दीन को दिलवाई सजा

बता दें कि चंदा बाबू उन दिनों चर्चा में आये थे जब उनके दो पुत्रों को तेजाब से नहलाकर हत्या कर दी गई थी. इसका आरोप आरजेडी के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन पर लगा था. इस केस में शहाबुद्दीन को निचली अदालत से सजा हुई. फिलहाल, बाहुबली नेता शहाबुद्दीन तिहाड़ जेल में सजा काट रहे हैं.

पिछले वर्ष पत्नी की हुई थी निधन

वहीं, इसके बाद उनके तीसरे बेटे राजीव रोशन की भी हत्या भी अपराधियों ने सीवान के डीएवी मोड़ पर गोली मार कर दी थी. वहीं, उनकी पत्नी का निधन पिछले वर्ष हो गया. ऐसे में वे अपने चौथे दिव्यांग पुत्र के साथ अकेले शहर के गौशाला रोड स्थित अपने आवास में रहते थे.

दिव्यांग पुत्र है जीवित

गौरतलब है कि चंदा बाबू सिवान में अपना व्यवसाय करते थे. पति पत्नी के अलावा 4 बच्चे थे जिनमें 3 अलग-अलग दुकानों पर व्यवसाय संभालते थे. जबकि एक बच्चा दिव्यांग होने की वजह से उन दोनों के साथ रहता था, जो फिलहाल परिवार का एकमात्र जिंदा सदस्य है. चंदा बाबू बाहुबली नेता शहाबुद्दीन को सजा दिलाने के लिए जिला कोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक की लड़ाई लड़ी थी.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here