मुंबई से भी खुबसूरत मरीन ड्राइव का सपना पटना में ही होगा पूरा, सरपट दौड़ेंगी गाड़ियां

0
35

पटना: राजधानी पटना में गंगा नदी के किनारे बन रहा दीघा से दीदारगंज तक गंगा पथ परियोजना का काम दिसम्बर, 2022 तक पूरा कर लिया जायेगा. फिलहाल दीघा से गांधी घाट तक निर्माण कार्य तेजी से जारी है. अगले साल अगस्त, 2021 तक दीघा से एएन सिन्हा इन्स्टीच्यूट के बीच परिवहनों का आवागमन शुरू कर दिया जायेगा.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

मंगल पांडे ने गंगा पथ परियोजना के निर्माण कार्यो का निरीक्षण किया है. इस दौरान पत्रकारों से बातचीत में कहा कि दीघा से दीदारगंज तक 20.50 किमी लम्बी इस परियोजना की लागत 3390 करोड़ है. एएन सिन्हा इन्स्टीच्यूट के पास से गायघाट, कंगनघाट होते हुए पटना घाट एवं धर्मशाला घाट से पुराने नेशनल हाई-वे दीदारगंज तक कुल 11.70 किमी एलीवेटेड रोड एवं कुल 8.80 किमी पथांश बांध पर है.

गंगा किनारे घाटो से कनेक्टिवीटी

गंगा पथ-वे के बन जाने से राजधानी में एक छोर से दूसरे छोर पूरब से पश्चिम के बीच अशोक राजपथ पर वाहनों के बढ़ते दवाब को कम किया जा सकेगा. इसके लिए आठ स्थानों पर सम्पर्क पथों की व्यवस्था है. अशोक राजपथ से सम्पर्कता के लिए एलसीटी घाट, एएन सिन्हा इस्टीच्यूट, पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल, कृष्णा घाट, गायघाट, कंगन घाट, पटना घाट और दीदारगंज में पुराने राष्ट्रीय उच्च पथ संख्या 30 से सम्पर्कता दी गई है.

सभी गतिरोध हुआ दूर

मंगल पाण्डेय ने बताया कि कुछ कारणों से बीते एक वर्ष से योजना के कार्य की प्रगति धीमी हो गई थी, लेकिन अब निर्माण से जुड़े सभी गतिरोध को दूर कर लिया गया है और गंगा पथ के निर्माण की रफ्तार तेज हो गई है. पथ के प्रारम्भ में 5.90 किमी में पथ पटरी के अलावा दोनों छोर पर 5 मीटर की हरित पट्टी एवं गंगा नदी की ओर तट पर 5 मीटर के वाकिंग ट्रैक का प्रावधान किया गया है.

पीएमसीएच जाना होगा आसान

पीएमसीएच में मरीजों के आवागमन के लिए विशेष रुप से 4 लेन की सड़क कनेक्टिविटी दी जा रही है. एम्स-दीघा पथ, जेपी सेतु एवं आर ब्लॉक-दीघा पथ से सम्पर्कता के लिए दीघा छोर पर विश्व स्तरीय रोटरी का निर्माण किया जा रहा है जिससे इन तीनों मार्गों से आने वाले वाहन सुगमतापूर्वक गंगा पथ पर जा सकेंगे.

जाम से मिलेगा निजात

उन्होंने कहा कि यह एक बहु प्रतिक्षित परियोजना है जिसके पूरा होते ही उत्तर व दक्षिण बिहार जाने वाले वाहनों को अत्यधिक सुविधा मिलेगी और पुरब में दीदारगंज से पश्चिम में दीघा तक अशोक राजपथ यातायात के दवाब से मुक्त होगा. पटना सिटी से दानापुर तक आने-जाने वाले नागरिकों को जाम से मुक्ति मिलेगी.

13 जगह पर अंडर पास

आम नागरिकों के धार्मिक एवं सामाजिक कार्य के लिए गंगा नदी के तट पर पहुंचने हेतु कुल 13 स्थानों पर अण्डरपास का निर्माण किया गया है जिससे आम जन आसानी से अपने धार्मिक व सामाजिक दायित्व का निर्वहन गंगा तट पर कर सकेंगे.

25 साल का सपना होगा पूरा

पथ निर्माण मंत्री मंगल पाण्डेय ने कहा कि मेरीन ड्राईव के तर्ज पर पटना में गंगा नदी के किनारे दीघा से दीदारगंज तक पथ निर्माण की कल्पना 25 वर्ष पहले की गई थी. जिसे योजना के रुप में लाकर यथार्थ में तब्दील करने के लिए सीएम नीतीश कुमार ने 2013 में शिलान्यास किया था.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here