हड़ताल से लौटते ही जुनियर डॉक्टरों को नीतीश सरकार ने दिया बड़ा तोहफा

0
18

पटनाः बिहार सरकार ने हाल ही में हड़ताल पर गए जूनियर डॉक्टरों के मानदेय से संबंधित आदेश जारी कर दिया है. इससे पहले जूनियर डॉक्टर मानदेय को लेकर 23 दिसंबर को हड़ताल पर चले गए थे. जिसके कारण पूरे बिहार में मेडिकल कॉलेजों की व्यवस्था चरमरा गई थी. हालाांकि, प्रधान सचिव और स्वास्थ्य मंत्री के आश्वासन पर 31 दिसंबर को जूनियर डॉक्टर काम पर लौट गए थे.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

 बिहार सरकार के अपर सचिव कौशल किशोर ने आदेश जारी कर कहा है कि विभागीय संकल्प सं 0-524 ( 1 ) 09.05.2017 द्वारा पी जी में अध्ययनरत छात्रों के मानदेय का निर्धारण किया गया था. इस संकल्प द्वारा पीजी छात्रों के मानदेय का निर्धारण तीन वर्षों पर किए जाने का प्रावधान बनाया गया था. इसी क्रम में राज्य के चिकित्सा / डेन्टल महाविद्यालय के पीजी में अध्ययनरत छात्रों के मानदेय को दिनांक 1 जनवरी 2020 से बढ़ाया जाता है.

 मानदेय के लिए हड़ताल करते जुनियर डॉक्टर (फाइल फोटो)

अब इतनी मिलेगी राशि

अपर सचिव कौशल किशोर ने आदेश में कहा है, दिनांक 1 जनवरी 2020 से वर्ष मानदेय की राशि प्रथम वर्ष के पीजी छात्रों के लिए 50 हजार की जगह 68,545 रुपए, द्वितीय वर्ष के पीजी छात्रों के लिए 55 हजार से 75,399 हजार रुपए और तृतीय वर्ष के पीजी छात्र के लिए 60 हजार से 82,938 रुपए प्रतिमाह छात्रवृत्ति के रूप में दिये जायेंगे.

ये भी पढ़ेंः बिहार में एक और घोटाला हुआ उजागर, नवोदय विद्यालय में ऐसे हुआ फर्जीवाड़ा

जुनियर डॉक्टरों ने सरकार को दिया धन्यवाद

आदेश में यह भी कहा गया है कि अनाधिकृत अनुपस्थिति के मामले में प्रतिमाह की राशि में अनुपातिक कटौती करके ही राशि का भुगतान किया जाएगा. प्रत्येक वर्ष के पीजी छात्रों को अधिकतम 12 माह के मानदेय का भुगतान मान्य होगा. जेडीए पीएमसीएच के अध्यक्ष हरेंद्र ने पूरे एसोसिएशन की तरफ से सरकार और प्रधान सचिव को धन्यवाद दिया है.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here