एनडीए में सबकुछ ठीक नहीं! मुकेश सहनी ने बीजेपी के ऑफर को ठुकराया, कर दी यह मांग

0
26

पटनाः बिहार में विधान परिषद की दो सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव होने हैं. बीजेपी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और सीनियर लीडर शहनवाज हुसैन को अपना कैंडिडेट बनाया जबकि दूसरे सीट पर वीआईपी प्रमुख मुकेश सहनी विधान परिषद भेजने की कवायद चल रही थी. जिसे मुकेश सहनी की अगुवाई वाली विकासशील इंसान पार्टी ने ना कर दी है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

एमएलसी उपचुनाव में एक सीट पर बीजेपी अपने कैंडिडेट को विधान परिषद भेज रही है जबकि दूसरे पर नीतीश कैबिनेट के मंत्री और वीआईपी पार्टी के प्रमुख मुकेश साहनी के विधान परिषद में जाने के कयास लगाए जा रहे थे. हालांकि, मुकेश सहनी ने उपचुनाव के लिए नॉमिनेशन नहीं करने की घोषणा की है.

6 साल के लिए एमएलसी बनना चाहते हैं मुकेश

वीआईपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव मिश्रा ने स्पष्ट कर दिया है कि उपचुनाव में मुकेश साहनी नॉमिनेशन नहीं करेंगे. राजीव मिश्रा के मुताबिक मुकेश सहनी विधान परिषद की सीट के लिए 6 साल कार्यकाल वाली सीट चाहते हैं जबकि उपचुनाव में मिलने वाली सीट से वह मात्र 4 साल के लिए विधान पार्षद रहेंगे. ऐसे में मुकेश सहनी ने किसी भी सीट से विधान परिषद में नहीं जाने का फैसला लिया है.

विधानसभा चुनाव में हार गए थे सहनी

बता दें कि विधानसभा चुनाव में आखिरी वक्त पर महागठबंधन छोड़ कर एनडीए में आने वाले मुकेश सहनी के कई उम्मीदवार चुनाव जीत कर आये लेकिन वो खुद सिमरी बख्तियारपुर से चुनाव हार गए. हालांकि. नीतीश कैबिनेट में मंत्री बनने के साथ ही उन्हें 6 महीने के भीतर किसी भी सदन का सदस्य बनने पड़ेगा.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here