पुलिस की कार्रवाई से गुस्से से लाल-पीले हुए तेजस्वी यादव, नीतीश को दे दिया है खुला चैलेंज

0
13

पटना: राबड़ी आवास पर आरजेडी की महत्वपूर्ण बैठक हुई जिसमें पार्टी के एजेंडे को बताया गया. बैठक का एजेंडा किसान आंदोलन को लेकर 30 जनवरी को मानव श्रृंखला और 24 जनवरी से 30जनवरी तक किसान जागरूकता सप्ताह मनाने का फैसला लिया गया है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का कहना है कि पूरा देश कानून के खिलाफ है, बिहार का किसान गरीब होता चला गया और मजदूर बन गया है. डबल इंजन की सरकार ने किसानों की स्थिति और खराब कर दी है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बताया कि पंचायत स्तर तक मानव श्रृंखला का निर्माण करेंगे. एक मुट्ठी मिट्टी उठा कर संकल्प लेंगे.

डंडे बरसाती है सरकार

आरजेडी नेता का कहना है कि उनकी सरकार में किसान एमएसपी से ज्यादा रेट पर फसल बेचते थे. उन्होंने कहा अगर यह डबल इंजन सरकार आगे भी रही तो किसान मजदूर से भिखारी बन जायेगा. इस सरकार में न सुनवाई होती है न कार्रवाई होती है ये सरकार लोगों पे डंडे बरसाने का काम करती है.

विपक्ष के आगे झुकी नीतीश सरकार

तेजस्वी यादव ने निशाना साधते हुए कहा कि सरकार विधान सभा सत्र को भी खत्म करना चाहती है लेकिन हमारी वजह से सरकार को झुकना पड़ा. सरकार को मजबूरन बजट सत्र को 22 दिन का करना पड़ा. बिहार में सारी नियुक्तियों में धांधली हो रही है और बिना आरसीपी टैक्स के इस सरकार में कोई काम नहीं होता है. बिहार के लोगों को सरकार से अब कोई उम्मीद नहीं रह गई है.

नीतीश से संभल नहीं रहा बिहार

तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार कि तरफ इशारा करते हुए कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री थक गए है और उनसे बिहार संभल नहीं रहा. उन्होंने कहा कि हमें जानबूझ कर हराया गया है. उन्हों फिर से दोहराया कि वो अपने संकल्प पर अटल हैं. पढ़ाई दवाई सिंचाई सुनवाई कमाई और कार्रवाई पर काम करेंगे.

पूरे बिहार में पेट्रोलिंग का हाल बुरा

वहीं, पटना के जिलाधिकारी से फोन पर हुई बात को लेकर कहा कि जब डीएम का व्यवहार मेरे साथ ऐसा था तो आम लोगो के साथ कैसा होता होगा आप सोच सकते है. वहीं, सर्कुलर रोड में सचिवालय पुलिस के पेट्रोलिंग के मुद्दे पर तेजस्वी ने कहा कि सिर्फ हमारे आवास के बाहर ही पेट्रोलिंग की जाती है. पूरे बिहार में सुरक्षा व्यवस्था चौपट है रूपेश के हत्यारे क्यों नही पकड़े गए? क्योंकि इन्होंने ही संरक्षण दे रखा है इनको.

19 लाख रोजगार कहां गए

नेता प्रतिपक्ष ने आरोप लगाते हुए कहा कि अधिकारियों का मन बढ़ा हुआ है हमसे मिलने वालों को रोका जाता है. इस सरकार के पास जवाब नही है इसीलिए सत्र छोटा कर रही थी. हमने सारी नौकरियां परमानेंट देने की बात कही थी. आरजेडी नेता ने तंज कसते हुए कहा कि 19 लाख रोजगार का क्या हुआ. सृजन घोटाला, बालिका गृह कांड का मॉनिटरिंग मुख्यमंत्री स्वयं ही कर रहे हैं. कुछ हुआ क्या… तो रूपेश मामले में कहां से कुछ उम्मीद कर सकते है.

Get Daily News Update in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here