एसीबी के हत्थे चढ़ा घूसखोर आईपीएस, अरेस्ट होने से पहले के कारनामे जान हैरत होगी

0
14

दौसाः राजस्थान की दौसा में एसपी पद पर तैनात रहे IPS मनीष अग्रवाल को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने गिरफ्तार कर लिया है. हाइवे निर्माण कंपनी से रिश्वत मांगने वाले दो आरएएस अफसरों की गिरफ्तारी के बाद उनकी अरेस्टिंग हुई है. मनीष अग्रवाल के लिये वसूली करने वाले दलाल को पहले ही पकड़ा जा चुका है. आईपीएस मनीष पर दौसा में एसपी रहते हुये रिश्वतखोरी के आरोप हैं.

एसीबी के डीजी बीएल सोनी का कहना है कि हाइवे निर्माण कंपनी के मालिक से तत्कालीन पुलिस अधीक्षक दौसा मनीष अग्रवाल के नाम से दलाल नीरज मीणा ने मांग की थी. इसके तहत 4 लाख रुपये मासिक बंधी एवं प्रति एफआईआर में मामला रफा-दफा करने की एवज में 10 लाख रुपये की मांग की गई थी. 7 माह के लिए 28 लाख रुपये, एफआईआर रफा-दफा के लिए 10 लाख मिलाकर कुल 38 लाख रुपये रिश्वत के रुप में कंपनी से मांगे गये.

ये भी पढ़ेंः प्यार में बाधा बन रहे पिता को नाबालिग बेटी ने प्रेमी से बेरहमी तरीके से मरवाया, एक गलती ने खोल दी सारी पोल

आईपीएस की गिरफ्तारी से पहले 20 दिन तक जांच-पड़ताल किया गया है. एसीबी के ADG दिनेश एमएन के निर्देश पर मनीष अग्रवार के घर की तलाशी ली गई है. वहीं, एसीबी की एक टीम मनीष अग्रवाल से पूछताछ में जुटी है. बता दें कि जनवरी की 13 तारीख को दौसा और बांदीकुई एसडीएम को एक दलाल समेत तीन लोगों को एसीबी ने गिरफ्तार किया था. इनमें बांदीकुई एसडीएम पिंकी मीणा और दौसा एसडीएम पुष्कर मित्तल शामिल थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here