खेल-खेल में भाई-बहन के सामने ही ‘फांसी’ पर झूल गई 10 साल की मासूम बच्ची, हुई दर्दनाक मौत

0
12

भागलपुर: खेल-खेल में 10 साल की एक बच्ची की जान चली गई. भागलपुर में 10 साल की बच्ची अपने छोटे भाई  को ‘फांसी’ का खेल दिखा रही थी तभी फंदा गले में कस गया. गोल गोल घूमती रह गई. भाई-बहन को लगा कि दीदी खेल दिखा रही है, लेकिन तब तक बच्ची का दम घुट चुका था.

यह घटना भागलपुर के बबरगंज में हुई जहांं, साक्षी मुन्ना सिंह और डॉली देवी की बड़ी बेटी थी. मृतक बच्ची के पिता मुन्ना रिक्शा चलाता है, पत्नी डॉली लोगों के घरों में चौका-बरतन का काम करती है. परिवार बबरगंज में आशू यादव के घर में किराए पर रहते हैं. सुबह में डॉली काम पर चली गई जबकि जबकि मुन्ना सिंह रिक्शा लेकर निकल गया था. जबकि बच्चे खेलने लगे.

फंदा से कस गया बच्ची का गला

साक्षी कपड़े से झूला बनाकर झूल रही थी. कपड़ा छत में लगी कुंडी से बंधा हुआ था. अचानक उसने कपड़े को अपने गले में लपेट कर फांसी लगाना बताने लगी. गोल-गोल घूमने के दौरान कपड़े को इस तरह गले में लपेट लिया था कि उसकी जकड़ काफी मजबूत हो गई थी. कपड़ा गले में कसता गया और उसकी गर्दन अकड़ती गई. दोनों भाई और बहन ने समझा कि दीदी खेल दिखा रही है, लेकिन उनकी दीदी तो मौत के मुंह में चली गई थी.

पड़ोसियों ने फंदे से उतारा

मौत को गले लगाने वाली बच्ची का नाम साक्षी कुमारी था. भाई और बहन के शोर मचाते ही लोग पहुंच कर तुरंत फंदे से बाहर निकाला. उसे फौरन मायागंज अस्पताल ले जाया गया लेकिन तब तक देर हो चुकी थी. डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here