बिहार में कोरोना रिटर्नंसः दूसरे राज्यों से लोगों के आते ही अचानक तेजी से बढ़ने लगे कोरोना केस, डॉक्टरों की छुट्टी रद्द

0
22

पटनाः  बिहार में दूसरे राज्य से लोग होली के मौके पर वापस आने लगे हैं. इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से वृद्धि होनी शुरू हो गई है. गुरुवार को काफी अर्से बाद एक दिन में राज्य से 107 नए संक्रमित मरीज मिले हैं. कोरोनाी के बढ़ते प्रभाव के मध्यनजर कोविड-19 पर नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य विभाग ने सभी डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों की छुट्टियां पांच अप्रैल तक रद कर दी हैं.

स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं. विभाग की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि कोरोना वायरस के सेकेंड वेव की रोकथाम एवं इससे बचाव के उपाय और विशेष चौकसी, मॉनिटरिंग की आवश्यकता को देखते हुए राज्य के सभी डॉक्टर, संविदा डॉक्टर सहित, मेडिकल अफसर, निदेशक प्रमुख, अधीक्षक, जूनियर रेजिडेंट, सभी स्वास्थ्य कर्मियों, जीएनएम, एएनएम के साथ ही पारा मेडिकल कर्मियों के सभी प्रकार के अवकाश पांच अप्रैल तक रद रहेंगे. जो डॉक्टर, स्वास्थ्य कर्मी अवकाश पर हैं उन्हें तत्काल काम पर लौटने के निर्देश दिए गए हैं.

तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मरीज

बता दें कि बिहार में नए कोरोना संक्रमित मरीज लगभग के न के बराबर मिल रहे थे. स्वास्थ्य विभाग की जानकारी के अनुसार 15 मार्च को राज्य में 26 संक्रमित मिले थे. इसके अगले दिन 16 मार्च को यह संख्या बढ़कर 49 हो गई. 17 मार्च को 58 संक्रमित मिले तो 18 को संख्या बढ़कर 107 पर पहुंच गई है.

बिहार दिवस समारोह रद्द

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों पर नियंत्रण के लिए राज्य के सभी रेलवे स्टेशन, बस अड्डों के साथ ही एयरपोर्ट पर कोरोना टेस्ट की व्यवस्था की गई है. वहीं, बिहार दिवस के मौके पर इस वर्ष भी किसी भी तरह का कोई सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होगा. 22 मार्च को ऑनलाइन मोड में यह आयोजन ज्ञानभवन से दो सौ लोगों की मौजूदगी में होगा. सीएम नीतीश कुमार वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समारोह को संबोधित करेंगे जिसमें सभी जिलों के डीएमवीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़ेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here