उत्तराखंड के बाद हरियाणा में गहराया बीजेपी के लिए संकट, मझधार में कभी भी डूब सकती है खट्टर सरकार

0
23

उत्तराखंड के बाद हरियाणा में बीजेपी के सामने नया संकट खड़ा हो गया है. जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के विधायकों ने राज्य में गठबंधन सरकार के खिलाफ बागी तेवर दिखाए हैं. जेजेपी के विधायक डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला पर गठबंधन तोड़ने का दबाव डाल रहे हैं.

किसान आंदोलन के बीच कांग्रेस ने हरियाणा विधानसभा में बीजेपी-जेजेपी गठबंधन की खट्टर सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश किया है. इस पर  बुधवार को बहस होगी और जरूरत हुई तो फिर उस पर मतदान होना है. हरियाणा विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव से पहले जेजेपी के विधायकों ने गठबंधन सरकार के खिलाफ तीखे तेवर दिखाने शुरू कर दिये हैं.

जेजेपी के विधायक हुए बागी

जेजेपी के सीनियर विधायक देवेंद्र बबली ने बागी तेवर के साथ पार्टी के नेता और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला को नसीहत दी है. उनका कहना है कि दुष्यंत चौटाला गठबंधन और सरकार का साथ छोड़ें. वह गठबंधन तोड़ें और सरकार से बाहर आएं. देवेंद्र बबली का कहना है कि व्हिप जारी कर विधायकों को जबरन वोट करने के लिए कहा जा रहा है. जबकि इस मसले पर जेजेपी और हरियाणा सरकार को किसानों की बात सुननी चाहिए.

कांग्रेस का सरकार पर हमला

दूसरी तरफ कांग्रेस नेता और पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि हरियाणा सरकार ने लोगों का विश्वास खो दिया है. उनका समर्थन करने वाले विधायक और निर्दलीय उम्मीदवार भी पीछे हट गए हैं. अविश्वास प्रस्ताव पेश नहीं किया जाएगा बल्कि सीधे मतदान होगा. सदन में कई चेहरे बेनकाब होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here