अब मोबईल में ही इस ऐप के जरिये देखिये जमीन प्लॉट, हर प्लॉट खेसरा का होगा अपना आधार नंबर

0
17

पटनाः बिहार में जमीन के हर प्लॉट खेसरा का अपना अलपिन (आधार नंबर के समान/यूनिक लैंड पारसेल आईडेंटिफिकेशन नंबर) नंबर होगा. इसकी शुरूआत शेखपुरा जिले के एक राजस्व गांव से कर दी गई है. अब केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए ऐप ‘भू-नक्शा’ पर इसे जल्द देखा जा सकेगा.

बिहार देश का सातवां राज्य है, जहां यह सुविधा शुरू हो गई है. हर प्लॉट को एक यूनिक नंबर दिया जाना है. यह नंबर 14 डिजिट का होगा. यह अल्फा न्यूमेरिक होगा यानी इसमें गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन नंबर के समान अंक के साथ अक्षर भी शामिल रहेगा.

साॅफ्टवेयर में हर जानकारी

अलपिन नंबर के साथ उसके मालिक की पूरी जानकारी इस साॅफ्टवेयर में उपलब्ध रहेगी. राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह ने बताया कि रियल टाइम नक्शा बनाना हमारा लक्ष्य है. इसके बाद आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से चकबंदी का काम किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here