पटना में बवाल के बाद अब बुरे फंसे आरजेडी के नेता, तेजस्वी-तेजप्रताप यादव समेत कई सीनियर नेताओं पर एफआईआर

0
20

पटनाः राजधानी पटना में बेरोजगारी, बढ़ती महंगाई और कानून व्यवस्था के मुद्दे पर आरजेडी का हिंसक प्रदर्शन हुआ.  आरजेडी के उग्र कार्यकर्ताओं ने पत्थरबाजी की वहीं, पुलिस ने लाठियां भी भांजी. अब प्रशासन ने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव समेत कई अन्य लोगों के खिलाफ कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज की है.

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और तेजप्रताप के नेतृत्व में मंगलवार को नीतीश सरकार को घेरने के लिए आरजेडी ने विधानसभा घेराव का आयोजन किया था. इस बीच आरजेडी कार्यकर्ताओं को डाक बंगला चौराहे पर ही प्रशासन और पुलिस ने रोक दिया. इसी दौरान आरजेडी कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच में हिंसक झड़प हुई, जिसमें कई लोगों को चोट आई.

विरोध मार्च में दो तरफा हमला

दरअसल, आरजेडी के उग्र कार्यकर्ताओं पर नियंत्रण पाने के लिए पुलिस ने पहले वाटर कैनन चलाया, जिसके जवाब में आरजेडी कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर पत्थरबाजी की. वहीं, जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी आरजेडी कार्यकर्ताओं पर जमकर लाठियां भांजी. इस कार्रवाई में कई कार्यकर्ता और पूर्व विधायक भी घायल हुए.

बिना अनुमती के विरोध-प्रदर्शन

तेजस्वी और तेजप्रताप समेत आरजेडी के अन्य नेताओं और कार्यकर्ताओं पर आरोप है कि उन लोगों ने ड्यूटी पर मौजूद पुलिसकर्मियों और पदाधिकारियों पर हमला किया और जिला प्रशासन से अनुमति नहीं मिलने के बावजूद भी विरोध प्रदर्शन किया. उग्र प्रदर्शन के दौरान सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की विभिन्न धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है.

आरजेडी के बड़े नेताओं पर भी केस

जिन नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है उसमें नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, विधायक तेज प्रताप यादव, प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम रजक, पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी, विधायक रीतलाल यादव, निर्भय आंबेडकर, आजाद गांधी,  पूर्व मंत्री रमई राम, पूर्व विधायक शक्ति यादव, यूथ विंग के प्रदेश अध्यक्ष कारी सुहैब, पूर्व केंद्रीय मंत्री कांति सिंह के अलावा सैकड़ों कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here