मैट्रिक में 78.17 फीसदी स्टूडेंट्स हुए पास, रोहतास के संदीप बने टॉपर, टॉप टेन का टूट गया रिकार्ड

0
18

पटनाः बिहार बोर्ड की 12वीं के रिजल्ट आने के बाद आज मैट्रिक का परिणाम जारी कर दिया गया है. 12वीं के रिजल्ट जारी करते वक्त बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर ने कहा था कि अप्रैल के पहले सप्ताह में मैट्रिक का रिजल्ट जारी हो सकता है. यानी 5 अप्रैल तक मैट्रिक का रिजल्ट आ सकता है. कल ही बोर्ड ने सोमवार यानि आज रिजल्ट जारी करने का ऐलान किया था.

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने आज बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के कार्यालय में दसवीं का रिजल्ट जारी किया. इस साल 78.17 फीसदी स्टूडेंट्स ने पास किया है. वहीं, टॉप टेन में 101 स्टूडेंट आये हैं जो अब तक का रिकार्ड है. वहीं, सिमुतल्ला आवासीय विद्यालय का इस साल भी दबदबा कायम है. सिमुलतला के सबसे अधिक 13 बच्चे टॉपर्स में शामिल हैं. 10वीं का रिजल्ट बोर्ड की अधिकारिक वेबसाइट biharboardonline.bihar.gov.in पर रिजल्ट देख सकते हैं. इस साल मैट्रिक की परीक्षा के लिए करीब 16.84 लाख परीक्षार्थियों ने रजिस्‍ट्रेशन कराया, जिनमें जिनमें करीब 8.46 लाख छात्र और करीब 8.38 लाख छात्राएं शामिल हैं.

24 मार्च तक हुआ मूल्यांकन

बोर्ड परीक्षा 17 से 24 फरवरी 2021 तक हुई थी. वहीं, कॉपियों का मूल्यांकन भी 24 मार्च तक पूरा कर लिया गया था. अब रिजल्‍ट जारी होते ही बिहार पहला राज्य बन गया है जो कोरोना काल में सबसे पहले मैट्रिक का परिणाम आया है. इससे पहले इंटर का भी रिजल्ट सामने आया था.

पिछले साल मई में आया था रिजल्ट

bsebonline.in, biharboardonline.com और biharboardonline.bihar.gov.in वेबसाइटों के जरिये परीक्षार्थी अपना रिजल्ट चेक कर सकते हैं. बता दें कि पिछले साल बिहार बोर्ड मैट्रिक की परीक्षा में 80.59 विद्यार्थी पास हुए थे. हालांकि कोरोना काल में परीक्षा परिणाम 26 मई को जारी किया गया था. पिछले साल 10वीं की बोर्ड परीक्षा में 4,03,392 विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन, 524217 सेकेंड डिवीजन और 2,75,402 विद्यार्थी थर्ड डिवीजन से पास हुए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here