ट्यूशन जा रही नाबालिग का गांव के मनचलों ने किडनैप कर किया गैंगरेप, घर लौटकर पीड़िता ने की खुदकुशी!

0
23

उत्तर प्रदेश के सरधना कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में ट्यूशन से लौट रही 10वीं कक्षा की छात्रा को गांव के ही चार युवकों ने किडनैप कर गैंगरेप किया. पुलिस का कहना है कि इस घटना से आहत छात्रा ने घर पहुंचकर कथित रूप से जहरीला पदार्थ खा लिया जिससे अस्पताल में उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई. लेकिन परिजनों का कहना है कि लड़की को आरोपियों ने ही जहर दे दिया, जिससे उसकी मौत हुई.

सरधना पुलिस ने बताया कि किशोरी 10वीं की छात्रा थी और गुरुवार को घर से ट्यूशन पढ़ने के लिए गई थी. पुलिस के अनुसार ट्यूशन से लौटते समय छात्रा को कपसाड़ गांव निवासी चार युवकों ने अगवा कर लिया और टावर के पास मकान में बंधक बना सामूहिक दुष्कर्म किया. पुलिस ने बताया कि छात्रा किसी तरह अपने घर पहुंची और परिजनों को घटना की जानकारी दी. बाद में आहत छात्रा ने घर पर जहरीला पदार्थ खा लिया, जिससे उसकी हालत बिगड़ गई और उसे शाम करीब छह बजे मोदीपुरम के एसडीएस ग्लोबल अस्पताल में भर्ती कराया गया.

इलाज के दौरान हुई मौत

पुलिस के मुताबिक उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई. इस मामले में जांच जारी है और पुलिस ने दो अभियुक्तों को अरेस्ट कर लिया है. बाकी दो आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं. पीड़िता के भाई ने इस मामले में  एफआईआर दर्ज कराया है. जिसमें कहा गया है कि लड़की ट्यूशन खत्म होने के बाद भी काफी देर नहीं लौटी, तो परिवारवाले ने ढूंढने की पूरी कोशिश की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ.

परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

परिजनों ने बताया कि जब वह देर शाम लौटी, तो उसके कपड़े फटे हुए थे और उसे चोटें लगी थीं. वह बोल भी नहीं पा रही थी. आनन-फानन में उसे अस्पताल ले गए, जहां उसकी जान चली गई. लड़की के चाचा ने कहा कि पुलिस पीड़िता का सुसाइड नोट मिलने की बात कह रही है, लेकिन असल में यह हत्या थी. आरोपियों ने ही लड़की को जहर दे दिया.

सुसाइड नोट की होगी फॉरेंसिक जांच

इस पर मेरठ देहात एसपी केशव कुमार ने बताया कि घटना गुरुवार की है. इसमें चार युवक शामिल थे. उन्होंने बताया कि घर से छात्रा का एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें छात्रा द्वारा लखन पुत्र संजय के अलावा विकास पुत्र बलवंत उर्फ मुरली का जिक्र किया गया है. एसपी का कहना है कि सुसाइड लेटर असली है और लड़की की अपनी हैंडराइटिंग में है, लेकिन इसकी जांच फॉरेंसिक साइंस लैब में कराने भेजा जाएगा. एफआईआर भी लड़की के परिजनों के बयान के बाद दर्ज हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here