मुश्किल में पड़े जीतनराम मांझी, सीएम नीतीश कुमार से बार-बार लगा रहे गुहार

0
34

पटना: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हम पार्टी के राष्ट्रीय अद्यक्ष जीतन राम मांझी इन दिनों परेशान हैं. लेकिन, उनकी परेशानी का कारण कोई राजनीतिक मुद्दा नहीं, बल्कि उनके आवास का बिजली बिल है. पूर्व सीएम अपने सरकारी आवास पर बिजली की खपत से परेशान हैं.

पूर्व सीएम को सरकारी कोटे के तहत उन्हें विधायक के पद के अनुसार सब्सिडाइज़्ड बिजली यूनिट दी जा रही है लेकिन उनके आवास पर बिजली की खपत अधिक है. इस संबंध में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र भी लिखा था, लेकिन उन्होंने अभी तक इसपर कोई संज्ञान नहीं लिया है, जिस वजह से मांझी परेशान हैं.

तीन महीने लिखा था पत्र

शुक्रवार को पत्रकारों से बात करते हुए मांझी ने कहा, ” हमने आज नहीं तीन महीने पहले पत्र लिखा था. उसमें हमने कहा था कि सब्सिडाइज़्ड बिजली यूनिट जो एक एमएलए को मिलती, वही सुविधा मुझे भी मिल रही है. लेकिन मैं पूर्व मुख्यमंत्री हूं. ऐसे में ये उचित नहीं है.”

ये भी पढ़ेंः सुप्रीम कोर्ट ने नीतीश सरकार को दिया तगड़ा झटका, तल्ख टिप्पणी करते हुए लगाया 20 हजार रुपए का जुर्माना, जानिए पूरा मामला

मांझी ने कहा, ” विधायकों का आवास छोटा होता है, हमारा आवास बड़ा है और हम जेड प्लस सुरक्षा में हैं. हमारे पास स्टॉप ज्यादा हैं और कई तरह की पॉलिटिकल एक्टिविटी भी हैं. ऐसे में स्वभाविक है कि दो हजार यूनिट से अधिक का खर्च होता है. चूंकि, मैं एक्स सीएम हूं तो मुझे कम से कम चार से पांच हजार यूनिट बिजली देनी चाहिए. ऐसा करने पर हमें काफी सहूलियत होगी. बस यही बात है. ये बातें हमने कल भी उनसे (नीतीश कुमार) मुलाकात के दरम्यान कही है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here