रायपुर में फिर से लौट आया लॉकडाउन, एमपी से छत्तीसगढ़ में बसों के आने-जाने पर रोक

0
12

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में टोटल लॉकडाउन लगा दिया गया है.  लॉकडाउन 9 अप्रैल से 19 अप्रैल तक यानी कुल 11 दिनों तक लागू रहेगा. स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने जानकारी देते हुए कहा कि अगर हालात नहीं सुधरते हैं तो रायपुर के अलावा और जिलों में भी लॉकडाउन लगाया जा सकता है.

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने ग्रामीण इलाकों में मेडिकल व्यवस्था के सवाल पर सवाल पर कहा कि अभी काफी कुछ करना बाकी है, लेकिन शहरों से बढ़ने वाले कोरोना ने अगर ग्रामीण इलाकों को पकड़ा तो शायद हम अभी उतने तैयार नहीं हैं. हालांकि उन्होंने कहा कि इस ओर सरकार पूरी तरह से प्रयासरत है.

छत्तीसगढ़ में तेजी से बढ़े कोरोना केस

बता दें कि मंगलवार को छत्तीसगढ़ में 9,921 नए मामले सामने आए जबकि 53 लोगों की जान गई. अब तक राज्य में कोरोना के 3,86,269 मामले सामने आ चुके हैं और 4,416 लोगों की जान जा चुकी है. फिलहाल 52,445 मरीजों का इलाज चल रहा है.

दुर्ग में भी टोटल लॉकडाउन

इससे पहले शुक्रवार को छत्तीसगढ़ के दुर्ग में टोटल लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया था. छत्तीसगढ़ के दुर्ग के कलेक्टर के मुताबिक, जिले में अब 6 अप्रैल से 14 अप्रैल तक पूरी तरह से लॉकडाउन लागू रहेगा. लॉकडाउन के वक्त जो नियम थे, उन्हीं नियमों का पालन किया जाएगा. कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच ये सख्त फैसला लिया गया है.

एमपी से छत्तीसगढ़ बसों की नो एंट्री 

वहीं, मध्य प्रदेश सरकार ने छत्तीसगढ़ से आने-जाने वाली सभी बसों पर रोक लगा दी है. पाबंदी 15 अप्रैल तक लागू रहेगी. इससे पहले एमपी से महाराष्ट्र से भी आने-जाने वाली बसों पर पाबंदी लगी हुई है. 4 अप्रैल को ही एमपी से लगने वाली महाराष्ट्र बॉर्डर को भी सील कर दिया था. इसके बाद से वहां से आने-जाने वाली बसों पर भी रोक लगी हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here