साउथ सुपरस्टार रजनीकांत को मिलेगा दादा साहेब फाल्के पुरस्कार, मोदी सरकार ने किया ऐलान

0
15

नई दिल्लीः केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड का ऐलान किया. इस बार केंद्र सरकार ने साउथ और बॉलीवुड पर राज करने वाले सुपरस्टार रजनीकांत को दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से नवाजने का फैसला लिया है.

प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा- ‘हमें खुशी है कि देश के सभी भागों से फिल्मकार, अभिनेता, अभिनेत्री, गायक, संगीतकार सभी लोगों को समय समय पर दादा साहब फाल्के अवॉर्ड मिला है. आज इस साल का दादा साहब फाल्के अवॉर्ड महान नायक रजनीकांत को घोषित करते हुए हमें बहुत खुशी है. रजनीकांत बीते 5 दशक से सिनेमा की दुनिया पर राज कर रहे हैं और लोगों का मनोरंजन कर रहे हैं. यही कारण है कि इस बार दादा साहेब फाल्के की ज्यूरी ने रजनीकांत को ये अवॉर्ड देने का फैसला लिया गया है.’

5 लोगों ने लिया एकमत फैसला

‘इस साल ये सिलेक्शन ज्यूरी ने किया है. इस ज्यूरी में आशा भोंसले, मोहनलाल, विश्वजीत चटर्जी, शंकर महादेवन और सुभाष घई इन पांचों ज्यूरी ने बैठक करके एक राय से महानायक रजनीकांत को दादा साहब फाल्के अवॉर्ड देने की सिफारिश की.’

लोगों के दिल में बनाया है जगह

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आगे कहा, ‘रजनीकांत ने अपनी प्रतिभा, मेहनत और लगन से ये स्थान लोगों के दिल में जमा लिया है. ये उनका सही गौरव है. दादा साहब फाल्के अवॉर्ड इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि दादा साहब फाल्के ने पहला सिनेमा 1913 में राजा हरिशच्रंद बनाया था. तो उस राजा हरिशचंद्र सिनेमा के बाद ये पहले चित्रपट महर्षि कहलाने लगे और दादा साहब फाल्के की मृत्यु के बाद ये अवॉर्ड उनके नाम से रखा गया और आजतक 50 बार ये अवॉर्ड दिया गया है.’

ये भी पढ़ेंः बॉलीवुड की मशहुर एक्ट्रेस और सांसद किरण खेर को हुआ ब्लड कैंसर

बता दें कि रजनीकांत ने साउथ से लेकर बॉलीवुड में एक से बढ़कर एख फिल्में की हैं. अभी भी उनका साउथ से लेकर बॉलीवुड तक जलवा कायम है. रजनीकांत की बड़ी फिल्मों की बात की जाए तो दरबार, 2.0, द रोबोट, त्यागी, चालबाज, अंधा कानून, कबाली, खून का कर्ज, दोस्ती दुश्मनी, इंसाफ कौन करेगा. रजनीकांत बॉलीवुड के तमाम बड़े स्टार के साथ काम कर चुके हैं. फिलहाल रजनीकांत साउथ की फिल्मों में व्यस्त हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here