चक्रव्यूह में फंस गए पप्पू यादव, 32 साल पुराने मामले में जायेंगे जेल! मधेपुरा ले जाने के लिए पटना आ रही आ रही है पुलिस

0
36

पटनाः एंबुलेंस विवाद में बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के खिलाफ बोलना पूर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के लिए काफी भारी पड़ गया है. लगातार छपरा-पटना में केस दर्ज होने के बाद उन्हें अरेस्ट करने के लिए मधेपुरा पुलिस राजधानी पटना आ रही है. पूर्व सांसद को 32 वर्ष पुराने मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा जायेगा.

पुलिस की तरफ से दावा किया जा रहा है कि कुशेश्वर स्थान थाना में दर्ज केस नंबर 9/89 में साल 22 मार्च को सुनवाई करते हुए मधेपुरा कोर्ट ने गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था. मधेपुरा पुलिस इसी वारंट का हवाला देकर साथ में लेकर जाएगी. देर शाम तक कवायद पूरा करने की संभावना है.

पीरबहोर थाना में भी मामला हुआ है दर्ज

बता दें कि जाप सुप्रीमो और पूर्व सांसद पप्पू यादव पर दो दिनों पहले ही छपरा में मामला दर्ज हुआ है. वहीं, आज सुबह पटना पुलिस उनके घर से उठाकर सीधे गांधी मैदान थाना ले आयी. अभी भी उसी थाना में ही हैं. दूसरी तरफ लॉकडाउन उल्लंघन करने और पीएमसीएच के कोविड वार्ड में घूमने के मामले मजिस्ट्रेट के बयान पर पीरबहोर थाना में FIR दर्ज हुआ है. वहीं, अब मधेपुरा पुलिस पप्पू यादव के उपर तीसरा शिकंजा कसने जा रही है.

ये भी पढ़ेंः पप्पू यादव की गिरफ्तारी से NDA में भारी उथल-पुथल! मांझी के बाद अब मंत्री मुकेश सहनी ने भी खोला मोर्चा

गौरतलब है कि कोरोना काल में जनता के बीच जननायक के रुप में उभरे जाप प्रमुख पप्पू यादव की गिरफ्तारी पर बवाल मचा है. पप्पू यादव की गिरफ्तारी के बाद से ही सोशल मीडिया में उबाल है. ट्वीटर पर पप्पू यादव को रिहा करो ट्रेंड कर रहा है. वहीं, अब सत्तापक्ष के मंत्री मुकेश सहनी और पूर्व सीएम जीतनराम मांझी भी समर्थन में उतर गए हैं.  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here