हो जाइये तैयार, बिहार में बढ़ेगा लॉकडाउन की अवधि! इस बार इतने दिन तक रहना पड़ेगा घरों में बंद?

0
22

पटनाः बिहार कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए नीतीश सरकार ने 5 मई से 15 मई तक लॉकडाउन लगाया है. जिसका असर देखे को मिल रहा है. बिहार में कोरोना संक्रमित मरीज़ों की संख्या लगातार कमी आ रही है. हालात को देखते हुए आईएमए ने एक बार फिर से बिहार सरकार से कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए एक हफ़्ते का लॉकडाउन और बढ़ाने की मांग की है. वहीं, नीतीश के मंत्री ने भी इस तरफ इशारा भी किया है.

इस पर बिहार सरकार के मंत्री जिवेश मिश्रा ने भी अपनी सहमति जाहिर करते हुए सीएम नीतीश कुमार से लॉकडाउन बढ़ाने की मांग करने के साथ-साथ लॉकडाउन के दौरान चार घंटे की छूट पर भी सवाल उठाया है. जिवेश मिश्रा का कहना है कि छूट की जगह गली-मोहल्ले में ठेला पर सब्ज़ी और दूध फल बेचने का निर्देश दिया जाए.

बिहार में दिख रहा लॉकडाउन का असर

बिहार आईएमए के कार्यकारी अध्यक्ष डॉक्टर अजय कुमार ने कहा हैकि बिहार में लॉकडाउन का असर दिख रहा है. लोग घरों से कम निकल रहे हैं जिससे कोरोना संक्रमण के चेन पर ब्रेक हो रहा है. फिर भी अभी बिहार में रोजाना कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीज़ों की संख्या दस हज़ार से ऊपर आ रही है. हालांकि, आंकड़े घटने के बावजूद 15 मई के बाद भी एक हफ़्ते के लिए और बढ़ाना चाहिए, ताकि कोरोना का असर बिहार में और कम हो सके.

ये भी पढ़ेः कमर में हाथ डाला, दुपट्टा खिंचा….पति को बचाने के लिए सबकुछ सहती रही महिला, कोरोना से मौत होते ही फूट-फूट कर रोने लगी, पूरी बात जान खून खौल उठेगा

श्रम मंत्री जिवेश मिश्रा ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि लॉकडाउन का अच्छा असर दिख रहा है. बावजूद अभी भी बिहार में कोरोना से प्रभावित मरीज़ों की संख्या प्रति दिन दस हज़ार से ऊपर है. इस पर और लगाम लगाने के लिए लॉकडाउन को एक हफ़्ते के लिए और बढ़ा देना चाहिए, साथ ही चार घंटे के लिए जो लॉकडाउन में ढील दी जा रही है, उस पर भी गम्भीरता से विचार करना चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here