कोरोना पॉजिटिव होने पर नहीं की किसी ने मदद, ठीक होते ही बंदे ने नाव को बना डाला एंबुलेंस

0
22

पूरा देश इस वक्त कोरोना वायरस से जूझ रहा है. इस विकट परस्थिति में लोगों की मदद के लिए कहीं लोग खुद आगे भी आ रहे हैं, कहीं उन्हें सहायता पहुंचाने के लिए अपनी ओर से जो कर रहे हैं वो देख दूसरों को हौसला मिल रहा है. जम्मू व कश्मीर के तारिक अहमद पतलू ने कुछ ऐसा ही काम किया है कि जिससे दूसरे प्रेरित हो जाएं. उन्होंने श्रीनगर की मशहूर डल झील पर नाव को ही एंबुलेंस बना डाला.

तारिक अहमद पतलू  इसके जरिए तारिक अहमद कोविड-19 के मरीजों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने में उनकी मदद करते हैं. तारिक खुद कोरोना पॉजिटिव होने के बाद लोगों का दर्द समझा. कोरोना को मत देते ही वो लोगों की मदद के लिए आगे आए.

 एंबुलेंस का सारा खर्च उठाते हैं तारिक

दरअसल, जब वो खुद कोरोना से जूझ रहे थे तो किसी ने अस्पताल ले जाने में उनकी मदद नहीं की थी. जब वो ठीक हुए तो उन्होंने फैसला किया कि वो लोगों की मदद जरुर करेंगे. लिहाजा, उन्होंने ये एंबुलेंस बनवाई. ये सारा काम तारिक ने अपने खर्च पर ही करवाया है. उन्होंने कहा कि वह आज डल झील के रास्ते मरीज़ों को अस्पताल पहुंचाने में मदद कर रहे हैं. इस एंबुलेंस में पीपीई किट, स्ट्रेचर और व्हीलचेयर भी है.

आस-पास के लोगों को पहुंचा रहे अस्पताल

डल झील के आस पास रहने वाले लोगों की तारिक फ्री में भी मदद करते हैं. वो लोगों को इमरजेंसी के दौरान अस्पताल पहुंचाने में आगे आते हैं. वो कहते हैं, ‘बढ़ते मामलों के कारण अस्पतालों और घरों में स्थिति को देखते हुए, मैंने लोगों के लिए यह सुविधा स्थापित की है.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here