वेंटिलेटर पर 21 दिन रहने के बाद डिस्चार्ज होने वक्त डॉक्टर को पकड़ रोने लगा मरीज, कहा-‘आप ही हो हमारे सुपरस्टार’

0
17

मुजफ्फरपुर: कोरोना काल में रोजाना कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो रही है, इसी बीच मुजफ्फरपुर में सुकून देने वाली खबर सामने आई है. शहर के निजी अस्पताल में गुरुवार को गंभीर रूप से कोरोना संक्रमित दो मरीजों को पूर्ण रूप से स्वस्थ होने पर बाद डिस्चार्ज किया गया. बचने की आस छोड़ चुके मरीजों को बचाने के लिए दो डॉक्टर जुटे हुए थे. नतीजतन दोनों स्वस्थ हो गए.

जब डिस्चार्ज किया जाने लगा तो ठीक हो चुके मरीज भावुक हो गए. डॉक्टर के हाथों को पकड़ कर कहा कि आप ही हमारे सुपरस्टार हो. ये कहते हुए मरीज रोने लगे. मरीजों को भावुक होता देख डॉक्टरों ने उनका हौंसला बढ़ाया और गुलदस्ता देकर उन्हें डिसचार्ज किया. बता दें कि दोनों मरीज जिले के तुर्की और कांटी क्षेत्र के हैं.

सरकारी रेट में ले रहे पैसे

मरीजों के परिजनों ने बताया कि जहां एक ओर पूरे देश में निजी अस्पतालों द्वारा मरीजों से मोटी रकम लेने की बात सामने आ रही है. इसी बीच इस अस्पताल में सरकारी रेट के हिसाब से ही पैसे लिए जा रहे हैं. साथ ही वेन्टीलेटर और अन्य सुविधा का कोई अन्य खर्च भी नहीं लिया जा रहा है.

पॉजिटिव बच्चों को घर पर छोड़ इलाज कर रहे डॉक्टर

अस्पताल से मरीजों के डिस्चार्ज होने पर भावुक होते हुए डॉ. गौरव वर्मा ने बताया कि 25 अप्रैल से मरीजों को वेंटिलेटर पर रखा गया था. ठीक होने पर काफी खुशी मिल रही है. वहीं, डॉ. बी मोहन ने बताया कि रातों रात डॉ. गौरव वर्मा और उन्होंने मिलकर इस अस्पताल को खोला और इसमें मरीजों को रखना शुरू किया. इस दौरान महीनों से उन्होंने अपने परिजनों से मुलाकात नहीं की है. जबकि खुद उनके दो बेटे कोविड पॉजिटिव हो चुके हैं. लेकिन उन्हें घर पर ही आइसोलेट किया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here