एलोपैथिक पर बयानबाजी योग गुरू को पड़ रही महंगी! आईएमए ने बाबा रामदेव को दी खुली चुनौती

0
28

योग गुरू बाबा रामदेव की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही. लगातार विवादों में चल रहे योग गुरू को आईएमए ने उनके बयान पर खुली चुनौती दी है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) उत्तराखंड ने बाबा रामदेव को चुनौती देते हुए ने बाबा रामदेव को पतंजलि की दवाओं से एलोपैथी अस्पतालों में ट्रीटमेंट के बारे में बहस करने के लिए कहा है.

आईएमए ने योग गुरू बाबा रामदेव से पूछा है कि कौन से एलोपैथिक अस्पतालों ने इलाज के लिए पतंजलि की दवाएं दी हैं. इस बाबत आईएमए ने बाबा रामदेव को सार्वजनिक रूप से पैनल डिस्कशन के साथ बहस के लिए चुनौती दी है.

एक टीवी डिबेट में किया था दावा

ता दें कि बाबा रामदेव ने एक टीवी डिबेट में दावा किया था कि एलोपैथिक अस्पताल भी कोरोना इलाज के लिए पतंजलि की दवाओं का इस्तेमाल कर रहे थे. अब उस पर आईएमए उत्तराखंड ने बाबा रामदेव से पूछा है कि उस अस्पताल का नाम बताएं, जहां कोरोना के इलाज के नाम पर पतंजलि की दवाएं दी गईं.

रामदेव के बचाव में उतरे बालकृष्ण

वहीं, रामदेव के सहयोगी और पतंजलि योगपीठ के सीईओ आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि रामदेव कोरोना में जान गंवा चुके चिकित्सकों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त कर रहे थे, लेकिन उनके खिलाफ प्रोपेगेंडा फैलाया जा रहा है. हम मॉर्डन चिकित्सा का सम्मान करते हैं और उसकी मदद भी लेते हैं. लेकिन कुछ लोग योग और आयुर्वेद को आगे बढ़ते नहीं देखना चाहते. यही लोग साजिश के तहत स्वामी रामदेव को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं.

ये भी पढ़ेंः शादी में फेरे के समय दुलहन की हार्ट अटैक से मौत, चंद मिनटों में पसरा मातम, छोटी बहन की हुई दुल्हे से शादी

गौरतलब है कि बीते दिनों बाबा रामदेव ने कहा था कि किसी का बाप भी रामदेव को गिरफ्तार नहीं करा सकता है. बता दें कि बुधवार को सोशल मीडिया पर इसी विवाद के चलते ‘अरेस्ट बाबा रामदेव’ ट्रेंड कर रहा था. जिसके जवाब में रामदेव ने यह टिप्पणी दी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here