लालू यादव ने इस वजह से उठाई अपने धुर विरोधी नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार देने की मांग

0
23

पटनाः जमानत पर जेल से बाहर आये आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव लगातार सोशल साइट्स पर एक्टिव हैं. कोरोना को लेकर लगातार नीतीश सरकार को घेर रहे हैं. वहीं, इन दिनों सोशल मीडिया पर बिहार की लचर स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर घेरा है. ​बुधवार रात ​​​​राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू यादव ने CM नीतीश कुमार पर तंज कसा.

मधुबनी जिले के हरलाखी प्रखंड के एक बदहाल उप स्वास्थ्य केंद्र का फोटो शेयर करते हुए लालू ने ट्वीट कर लिखा- ऐसे सैकड़ों स्वास्थ्य केंद्र बंद कराने के लिए नीतीश कुमार को नोबेल पुरस्कार के लिए नामांकित किया जाना चाहिए. कैमूर के एक स्वास्थ्य केंद्र का फोटो शेयर करते हुए लालू ने दूसरे ट्वीट में लिखा- नीतीश कुमार ने स्वास्थ्य केंद्रों को कबाड़ बना दिया है. उन्हें आईना देखने की जरूरत है.

लालू पर जेडीयू का पलटवार

दूसरी तरफ लालू यादव के इस हमले पर जेीयू एमएलसी और पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने लालू प्रसाद से सीधा सवाल पूछा कि लालू जी अपने पैतृक गांव फुलवरिया स्थित हॉस्पिटल में पहले कितने मरीज जाते थे, अब कितना जाते हैं? इसका मूल्यांकन कर लें. लालू यादव ने अपने कार्यकाल में 123 चरवाहा विद्यालय बनवाया… नर्सिंग स्कूल क्यों नहीं बनवाया? मेडिकल कॉलेज के बारे में क्यों नहीं सोचे?

ये भी पढ़ेंः बिहार में यास तूफान का बढ़ रहा असर, पटना सहित कई जिलों में तेज आंधी-बारिश, जानिए ताजा अपडेट्स

वहीं JDU के पूर्व मंत्री नीरज कुमार ने कहा कि लालू जी राजनीति के वह शख्सियत हैं, जिनका अपने विधायकों से संवाद के क्रम में ऑक्सीजन लेवल नीचे हो जाता है. लेकिन पॉलिटिकल किट आगे बढ़ जाता है, यह गहन जांच का विषय है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here