शादी के अगले ही दिन दूल्हा हुआ कोरोना पॉजिटिव, मेंहदी छूटने से पहले ही उजड़ा दुल्हन का सुहाग

0
24

गोपालगंजः कोरोना की दूसरी लहर इस बार ऐसा कहर बरपा रही है जिसके बारे में कल्पना तक नहीं की थी. इसी बीच शादी समारोह ने एक दूल्हे की जान की कीमत ही ले ली है. नविवाहित शिक्षक की मौत के बाद घर में मातम और जिले में खौफ पसर गया है. दर्दनाक मामला गोपालगंज जिले में कटेया के रुद्रपुर गांव का है. एक शादी का घर में फैला खुशियों का माहौल मातम में बदल गया.

कटेया के रुद्रपुर गांव में एक शिक्षक की शादी बीते 28 अप्रैल को हुई थी. अभी शिक्षक की पत्नी के हाथों की मेहंदी का रंग छूटा भी नहीं होगा कि कोरोना का संक्रमण ने उसके सुहाग की बलि ले ली. रुद्रपुर गांव के निवासी स्वर्गीय रामचंद्र पांडेय के छोटे लड़के दुर्गेश पांडेय कटेया प्रखंड के ज्ञानेश्वरी हाई स्कूल गौरा बाजार में अतिथि शिक्षक के रूप में काम कर रहे थे.

28 अप्रैल को हुई थी शादी

शिक्षक दुर्गेश की शादी 28 अप्रैल को पश्चिम चंपारण जिले के बगहा बनकटवा के स्वर्गीय चंद्रभूषण मिश्र की बेटी प्रियंका मिश्रा के साथ हुई. शादी के अगले दिन 29 अप्रैल को बारात वापस वापस आ गई. लेकिन लौटते ही दूल्हे दुर्गेश पांडेय को बुखार आने लगा. कोविड टेस्ट कराने पर दुर्गेश की रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई और साथ ही दुर्गेश की हालत गंभीर होती चली गई. इलाज के दौरान 15 मई को उनकी मौत हो गई. उसकी मौत की खबर सुनते ही परिजनों के साथ साथ पूरे गांव में सन्नाटा पसर गया.

ये भी पढ़ेंः नौकरी होती तो दूसरे से नहीं होती गर्लफ्रेंड की शादी, लड़की बोली- तुमको बोले थे बाहर जाओ; नीतीश कुमार नौकरी नहीं देना चाहते हैं

स्थानीय मुखिया और परिजन आनन-फानन में गोरखपुर पहुंचे। जहां कोरोना प्रोटोकाल के तहत शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया. मौत की खबर के बाद ही मृतक की पत्नी की रो रोकर बुरा हाल हो गया. मृतक की पत्नी प्रियंका मिश्रा ने अभी तक न तो अपने पति को सही ढंग से देखा और न ही अपने ससुराल में किसी से परिचित हो पाई थी. शादी के अगले ही दिन कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद उसके पति को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था. अब पति की मौत के बाद उस पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here