शादी के कुछ घंटे बाद ही दुल्हन ने तोड़ा दम, मायके से डोली की बजाय उठी अर्थी

0
34

बिहार के मुंगेर से झकझोर देने वाली घटना सामने आई है  जहां, शादी के महज पांच घंटे बाद ही दुल्हन की मौत हो गई. कुछ घंटे पहले शादी के बंधन में बंधे पति ने अंतिम संस्कार किया और उसके पार्थिव शरीर को मुखाग्नि दी. 8 मई को ही निशा की शादी महकोला गांव के रवीश से हुई थी. शादी में सात फेरे लेने और सिंदूरदान के बाद दुल्हन की तबियत बिगड़ गई लाख कोशिशों के बाद भी उसे बचाया नहीं जा सका.

दुल्हन की तबियत बगड़ने पर इलाज के लिए भागलपुर के निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया. निशा का शव गांव पर पहुंचने पर चीत्कार मच गया. तारापुर अनुमंडल के अफजल नगर पंचायत के खुदिया गांव में शादी के महज 5 घंटे बाद ही दुल्हन की मौत से सनसनी फैल गई. गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है. इस घटना ने लोगों की संवेदनाओं को झकझोर कर रख दिया.

सिंदुरदान के बाद बिगड़ी तबियत

जानकारी के मुताबिक 8 मई को अफजल नगर पंचायत के खुदिया गांव में रंजन यादव उर्फ रंजय के घर बारात आई. बेहद कम संख्या में हवेली खड़गपुर प्रखंड के महकोला गांव से सुरेश यादव के पुत्र रवीश ने शादी ब्याह की रस्म पूरी की. शादी के सात फेरे लेने और सिंदूरदान के बाद ही दुल्हन निशा की तबियत बिगड़ गई. आनन-फानन में लड़की के परिजन दुल्हन निशा को तारापुर स्थित सामुदायिक केंद्र लेकर पहुंचे. गंभीर स्थिति को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए भागलपुर रेफर कर दिया. जहां भागलपुर में इलाज के दौरान मौत हो गई.

ये भी पढ़ेंः लॉकडाउन में शादी ने उजाड़ दिया पूरा परिवार, एक-एक कर घर से उठी चार अर्थियां, कांधा देने वाला भी नहीं रहा कोई

शादी के सात फेरे लेने वाली सुहागिन दुल्हन की महज पांच घंटे में इलाज के दौरान मौत से सभी हतप्रभ है और खुदिया गांव गम में डूबा है. दुल्हन निशा को सात फेरे लेने के बाद विदा कर घर ले जाने के बजाय पति रवीश कुमार शव को सीधे श्मशान ले गया. चंदे घंटे पहले वैवाहिक बंधन में बंधे पति रवीश कुमार ने पत्नी निशा को मुखग्नि दी. सुल्तानगंज स्थित श्मशान घाट पर मौजूद सभी लोग इस वाकये को देख बहुत ही दुखी दिखे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here