नौकरी होती तो दूसरे से नहीं होती गर्लफ्रेंड की शादी, लड़की बोली- तुमको बोले थे बाहर जाओ; नीतीश कुमार नौकरी नहीं देना चाहते हैं

0
26

पटनाः सोशल मीडिया पर इन दिनों एक प्रेमी का सीएम नीतीश से गुहार लगाने वाला ट्वीट वायरल हो रहा है. उसके ट्वीट पर कथित तौर पर गर्लफ्रेंड के अलावा उसके फ्रेंड और क्लासमेट का भी चैट सोशल मीडिया सनसनी बना हुआ है. गर्लफ्रेंड की शादी रुकवाने के लिए जिस लड़के ने बिहार के CM नीतीश कुमार से गुहार लगाई थी. अब वह बात आगे बढ़ गई है.

चैट में गुहार लगाने वाले पंकज की गर्लफ्रेंड नव्या कूद गई. नव्या पंकज पर आरोप लगाया कि तुमने पूजा के चक्कर में मुझे छोड़ दिया था. इसलिए आज मैं खुशी से शादी कर रही हूं. लेकिन पंकज भले मैं शादी किसी और से कर लूं, दिल में तुम ही बसे रहोगे. शादी में जरूर आना. मैं तुम्हें देख कर विदा होना चाहती हूं.

बात यहां तक ही नहीं रहा इस चैट में लगातार पंकज की गर्लफ्रेंड और दूसरे दोस्त भी जुड़कर दिलचस्प बना रहे हैं. वहीं, व्यंग्य के तौर पर बिहार का सच भी बता रहे हैं. इससे पहले पंकज ने लिखा था कि सरकारी नौकरी होती तो गर्लफ्रेंड से शादी हो जाती.

बेराजगार की वजह से नहीं हुई शादी

पंकज ने जरूर यह कहा कि लॉकडाउन में यदि शादी-ब्याह पर रोक लग जाती तो 19 मई को उसकी गर्लफ्रेंड की होने वाली शादी रुक जाती. अब इससे आगे पंकज ने पोस्ट किया @Nitishkumar मेरी गर्लफ्रेंड मेरी नहीं हो पाई, आज हम ग्रेजुएट होकर भी बेरोजगार हैं और मेरी गर्लफ्रेंड के पापा को सरकारी नौकरी वाला लड़का चाहिए था. इसी वजह से मुझे रिजेक्ट कर दिया. 19 मई को मेरी गर्लफ्रेंड की शादी है सर प्लीज कुछ ऐसा कीजिए कि कोई भी युवा बेरोजगार ना रहे और उसकी प्रेमिका उससे दूर ना हो.

प्रेमी को दूसरे राज्य में जाने की दी थी सलाह

पंकज के इस पोस्ट के बाद उसकी तथाकथित गर्लफ्रेंड ने पोस्ट किया. पंकज तुमको हम कितना बोले थे कि कहीं दूसरे राज्य में चले जाओ नौकरी के लिए. नीतीश कुमार नौकरी नहीं देना चाहते हैं और बीजेपी वाले प्रेमी जोड़ा को एक नहीं होने देना चाहते हैं. हम दोनों का हाय लगेगा नीतीश को. पंकज तुम खुश रहना ध्यान रखना और दवाई समय से खाना.

पंकज के दोस्त की भी इंट्री

पंकज और नव्या के बीच में उसके दोस्त संतोष राज की भी इंट्री हो गई है. संतोष राज ने बिहारी अंदाज में कहा कि रे पंकज मना किए थे ना तुम को कि पूजबे का असाइनमेंट मत लिखो. कर दी ना बदनाम. नव्या भी गई ना हाथ से. अब नव्या तुमको टोपी पहना रही है. उसको सरकारी नौकरी वाला लड़का चाहिए था. तुम को बोलते रह गए कि पढ़ो-पढ़ो. लेकिन तुम उस के चक्कर में रह गए. अब बता रहे हैं राजेंद्र जाओ और यूपीएससी निकालो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here