इस खतरनाक बीमारी से जुझ रही हैं कपिल शर्मा शो की कॉमेडियन सुमोना चक्रवर्ती, छलका दर्द

0
25

एक्ट्रेस सुमोना चक्रवर्ती सोशल मीडिया पर एक मिलियन (10 लाख) फैन फॉलोइंग रखती हैं. इन्हें ‘द कपिल शर्मा शो’ और ‘बड़े अच्छे लगते हैं’ शो से फेम मिली. सुमोना चक्रवर्ती ने सोशल मीडिया पर एक बेहद ही इमोशनल पोस्ट किया है और बताया है कि वो एंडोमेट्रियोसिस नामक बीमारी से जूझ रही हैं. सुमोना ने यह भी बताया कि वो बेरोजगार हो गईं हैं और लॉकडाउन ने उन्हें मानसिक रूप से बहुत नुकसान पहुंचाया है. सुमोना ने लिखा कि वो एंडोमेट्रियोसिस से साल 2011 से जूझ रही हैं और वो बीमारी के चौथे स्टेज में हैं.

एक्ट्रेस का कहना है कि वह स्टेज-4 एंडोमेट्रियोसिस से जूझ रही हैं. एक्ट्रेस ने पोस्ट के जरिए फैन्स को जानकारी दी कि लॉकडाउन काफी मुश्किलों भरा है. वह इमोशनली इससे डील नहीं कर पा रही हैं. इसके साथ ही पोस्ट में उन्होंने बताया कि वह बेरोजगार हैं. उनके पास काम नहीं है, फिर भी वह परिवार और खुद का पालन कर रही हैं.

इंस्टाग्राम पर लिखी पोस्ट

सुमोना का कहना है कि हम खुशनसीब हैं कि अच्छे से रह रहे हैं, लेकिन कई बार इससे मैं अजीब महसूस करती हूं. सुमोना चक्रवर्ती ने एक लंबी-चौड़ी पोस्ट लिखकर फैन्स को पर्सनल लाइफ से जुड़ी कई जानकारियां दी हैं. सुमोना ने लिखा कि मैंने आज जमाने बाद घर पर वर्कआउट किया. कुछ दिन मैं गिल्टी महसूस करती हूं, क्योंकि कई बार उदासी हमारे लिए अच्छी होती है.

बेरोजगार होने का सता रहा डर

सुमोना आगे लिखती हैं कि मैं शायद बेरोजगार हो सकती हूं, लेकिन खुद का और परिवार का पालन करने में सक्षम हूं. मेरे लिए यह विशेषाधिकार है. हां, मैं कभी गिल्टी भी महसूस करती हूं, खासकर तब जब मैं लो महसूस कर रही होती हूं अपने पीएमएस (मासिक धर्म के पहले और बाद में) के दौरान मूड स्विइन्ग्स इमोशनली मेरे अंदर काफी तहलका मचा रहे होते हैं.

10 सालों से जूझ रही है सुमोना

सुमोना आगे लिखती हैं कि मैंने आजतक कुछ चीजें शेयर नहीं की हैं. मैं साल 2011 से एंडोमेट्रियोसिस की समस्या से जूझ रही हूं. अब कई सालों से मैं इसके स्टेज-4 पर हूं. अच्छा खान-पान, एक्सरसाइज और स्ट्रेस फ्री लाइफ ही इसके लिए सही चीजें हैं. मैंने आज वर्कआउट किया है. अच्छा महसूस कर रही हूं. सोचा मैं उन लोगों के साथ अपनी फीलिंग्स शेयर करूं जो इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं. उन्हें अहसास हो कि कई बार ग्लिटर्स और शोबिज हमेशा हम लोगों के लिए गोल्ड नहीं होता.

ये भी पढ़ेः कमर में हाथ डाला, दुपट्टा खिंचा….पति को बचाने के लिए सबकुछ सहती रही महिला, कोरोना से मौत होते ही फूट-फूट कर रोने लगी, पूरी बात जान खून खौल उठेगा

सुमोना ने लिखा कि हम सभी किसी न किसी चीज से जूझ रहे होते हैं. स्ट्रगल कर रहे होते हैं. हम सभी किसी न किसी जंग का हिस्सा होते हैं. हम लोग, अपने लोगों को खो देने, दर्द, सदमे में रहना, स्ट्रेस और नफरत से घिरे होते हैं. हमें भी आप सभी के प्यार, इज्जत और दुलार की जरूरत होती है, तभी हम इन मुश्किल घड़ी से बाहर निकल पाते हैं.

सुमोना ने आगे बताया कि कि मेरे लिए यह पर्सनल नोट आप सभी के साथ शेयर करना आसान नहीं था. मैंने अपने कम्फर्ट लेवल से बाहर निकलकर आप सभी के साथ यह शेयर किया. अगर यह पोस्ट आपके चेहरे पर मुस्कुराहट ला सकती है या आपको इंस्पायर कर सकती है तो मैं समझती हूं कि यह अच्छा है. सभी को ढेर सारा प्यार.

ये भी पढ़ेः शादी के बाद करिश्मा कपूर को पीटता था हसबैंड, हनीमून पर दोस्त से लगावाई थी कीमत!

बता दें कि एंडोमेट्रियोसिस में महिलाओं की यूट्रस के अंदर के टिशू बाहर की लाइनिंग पर आ जाते हैं. यह टिशू फेलोपियन ट्यूब, ओवरीज और कई बार आंतों तक पहुंच जाते हैं, जिसके कारण पेट दर्द की समस्या बढ़ती चली जाती है. इसके लक्षण पेट के निचले हिस्सा में दर्द और मासिक धर्म में अनियमितता होती है. इसे ठीक करने के लिए सर्जरी कराई जा सकती है या फिर हार्मोनल दवाएं ली जा सकती हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here