कुशवाहा जाति का वोट लेकर भी मोदी नीतीश ने केंद्र में एक मंत्री तक नहीं बनाया,कुश सेना का एलान-यूपी चुनाव में दिखा देंगे बीजेपी को औकात

0
37

पटनाः केंद्र में कैबिनेट विस्तार के बाद बिहार में बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है. जहां, आगामी यूपी चुनाव को देखते हुए राज्य को ज्यादा प्रतिनिधित्व दिया गया लेकिन एक खास वर्ग की उपेक्षा ने एनडीए सरकार को खुलेआम धमकी दे डाली है.

बीजेपी की एक चूक ने यूपी चुनाव में रणनीति को बैक फायर वाली स्थिति में ला खड़ा कर दिया है. बिहार में कुशवाहा, यूपी में मौर्य, शाक्य, सैनी, हरियाणा राजस्थान में सैनी,महाराष्ट्र में माली समुदाय से आने वाले सांसदों को इस बार भी मोदी सरकार ने एक मंत्री तक बनाना मुनासिब नहीं समझा. जबकि बिहार यूपी सहित तमाम राज्यों में ये वर्ग एनडीए को अपना समर्थन देता आया है.

यूपी में डूब सकती है बीजेपी की नैया

खासकर, यूपी की सत्ता तक योगी आदित्यनाथ को पहुंचाने वाला गैर यादव ओबीसी वोटरों में यहीं था. यूपी और बिहार से कई कुशवाहा सांसद होने के बाद भी मंत्रिमंडल विस्तार में जगह नहीं मिली जबकि कम आबादी वाले जातियों से संबंध रखने वाले मंत्रियों की मोदी कैबिनेट में भरमार है. मोदी सरकार के इस रवैये से बिहार के कुशवाहा जाति में खासा उबाल है.

पटना में जगह-जगह पोस्टर

इसका बिगुल बिहार की राजधानी पटना से फूंका जा चुका है. पटना में जगह-जगह पोस्टर लगाकर कड़ा एतराज जताया है. राजधानी के प्रमुख चौक-चौराहों पर एनडीए सरकार के खिलाफ पोस्टर लगाए गए हैं. इनकम टैक्स गोलमबंर, जेपी गोलंबर, बीजेपी कार्यालय के बाहर पोस्टर लगाया गया है जिसमें बीजेपी को यह पैगाम दिया गया है कि आगामी चुनाव में परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे. इसके साथ ही आरजेडी कार्यालय के बाहर भी इस पोस्टर को लगाया गया है. इसमें बीजेपी के अलावा जेडीयू की तरफ से भी अनदेखी किये जाने पर अंजाम भुगतने की बात कही गई है.

                                                     पटना के गोलंबर पर लगा पोस्टर

ठगा महसूस कर रहा समाज

दरअसल, कैबिनेट विस्तार के बाद मंत्रीमंडल में कुशवाहा समाज खुद को ठगा हुआ मसुस कर रहा है. सम्मान नहीं दिए जाने के विरोध में कुशवंशी क्षत्रिय सेना बिहार द्वारा यह बैनर राजधानी पटना में लगाया गया है. साथ ही कहा गया है कि
जल्द इस तरह का अनेको तस्वीर लोगों के सामने होगा.स्वाभिमान के साथ कोई समझौता नही होगा.

रामजन्म भूमि कमेटी को लेकर भी है नाराजगी

कुशवाहा जाति का आक्रोश इससे पहले रामजन्म भूमि कमेटी में समाज के व्यक्ति को शामिल नहीं करने को लेकर रहा है. भगवान श्री राम के वंशज मानने वाले कुशवाहा समाज का ट्रस्ट में प्रतिनिधित्व नहीं मिलने के बाद कैबिनेट से बेदखल रखने से आक्रोश बढ़ गया है.

चेहरा केशव का योगी को बीजेपी ने बना दिया सीएम

यूपी में इस बिरादरी ने पिछले विधानसभा चुनाव में केशव मौर्या के नेतृत्व की वजह से एकमुश्त होकर अपना वोट दिया था. वाबजूद इसके मौर्या की जगह योगी की ताजपोशी के बाद भी लगातार बीजेपी और एनडीए सरकार की बेरुखी और अंत में मंत्रिमंडल से बाहर रखने के बाद यूपी चुनाव में बीजेपी संकटों में घिर सकती है. इसके साथ ही कुशवंशी क्षत्रिय सेना ने एलान करते हुए कहा है कि बीजेपी को यूपी चुनाव में असली औकात बता देंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here