बिहार में मुखिया चुनाव लड़ने के लिए रातोंरात रचाई शादी, अब मैदान में उतरेगी नई-नवेली दुल्हन, लेकिन क्यूँ जानिए

0
67

GAYA : बिहार में पंचायत चुनाव को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं. इसी बीच एक अजीबोगरीब मामला भी सामने आया है जहां एक युवक ने सिर्फ इस कारण से बिना लगन शादी कर ली, क्योंकि उसका जाति प्रमाण पत्र किसी कारण से नहीं बन पाया था.

मामला गया जिले के खिजरसराय प्रखंड के होरमा पंचायत के बिंदौल गांव का है जहां आदित्य कुमार उर्फ राहुल कुमार नाम का एक शख्स काफी लंबे समय से पंचायत चुनाव लड़ना चाहता था लेकिन गांव का मुखिया बनने का सपना उसे पूरा होता नज़र नहीं आ रहा था. दरअसल, नामांकन के लिए जाति प्रमाण पत्र जरूरी था लेकिन उसका प्रमाण पत्र बन नहीं पाया था. कारण के तौर पर बताया गया कि जमीन से संबंधित खतियान में उसके नाम के साथ दांगी शब्द का उल्लेख नहीं है. इसलिए उनका जाति प्रमाण पत्र नहीं बन सकता है.

इसके बाद उसे एक उपाय सूझा. उसने शादी करने का फैसला कर लिया. राहुल ने बिना लगन और बैंड-बाजा के ही सूर्य मंदिर में शादी रचा ली. राहुल की पत्नी सरिता कुमारी खिजरसराय प्रखंड के नौडिहा गांव की रहने वाली है. सूर्य मंदिर में हुई इस शादी में वर-वधु दोनों पक्ष के लोग मौजूद थे.

दरअसल, दुल्हन के पास जाति प्रमाण पत्र है. इसलिए वह चुनाव लड़ सकेगी. राहुल ने अपनी नई-नवेली पत्नी का मुखिया पद के लिए नामांकन कराने का फैसला किया है. बता दें कि राहुल चुनाव लड़ने की तैयारी को लेकर काफी दिनों से गांव-गांव, टोला-टोला घूम रहा था. लेकिन अचानक अपने जाति प्रमाण पत्र नहीं बन पाने की खबर सुनकर वह परेशान हो गया. राहुल को हर हाल में चुनाव लड़ना ही था. अब इस शादी को चुनावी शादी कहा जा रहा है और इसकी चर्चा हर तरफ हो रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here