घर में रखना चाहते हैं ज्यादा दारू तो करना यह काम

0
140

उत्तर प्रदेश में रखना प्रदेश चाहते हैं ज्यादा दारू तो करना यह काम

प्रदेश सरकार की ओर से घर में व्यक्तिगत तरीके से शराब रखने की मात्रा तय है। यदि कोई भी व्यक्ति निर्धारित मात्रा से अधिक शराब घर में रखता पाया गया तो उसके विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं। मानक से अधिक शराब रखने के लिए लेना होगा वैयक्तिक होम लाइसेन्स।

श्रावस्ती जिलाधिकारी टीके शिबु से मिले निर्देश के अनुपालन में जिला आबकारी अधिकारी पीके गिरि ने बताया कि प्रदेश सरकार की ओर से घर में शराब रखने की सीमा तय है। यदि कोई भी घोषित निर्धारित सीमा से अधिक घर में शराब रखता है और किसी व्यक्ति की ओर से ज्यादा शराब रखने की शिकायत मिली और जांच के दौरान सही पाया गया तो सम्बन्धित व्यक्ति के विरुद्ध आबकारी अधिनियम का मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। साथ ही विधिक कार्रवाई की जाएगी।

उन्होंने बताया कि निर्धारित सीमा-देशी शराब में प्रत्येक तीव्रता में एक-एक लीटर, विदेशी मदिरा में भारत में निर्मित डेढ़ लीटर, विदेशों से आयातित विदेशी मदिरा डेढ़ लीटर तथा बियर 12 केन रखने की छूट है।

उन्होंने बताया कि अंग्रेजी शराब के लिए सीमा से अधिक शराब रखने के लिए लोगों को 12 हजार रुपये वार्षिक शुल्क जमाकर कर लाइसेंस लेना होगा साथ ही 51 हजार रुपये सिक्योरिटी देकर जिलाधिकारी से वैयक्तिक होम लाइसेन्स लेना होगा। आवेदक को इनकम टैक्स पेयी होना आवश्यक है और केवल रिहायसी घर के लिए ये लाइसेंस जारी होगा। किसी भी फार्म हाउस या गेस्ट हाउस के लिए यह लाइसेन्स कदापि नहीं मिलेगा।

उन्होंने बताया है कि वैयक्तिक होम लाइसेन्स लेने वाला व्यक्ति अपने परिवार के सदस्यों, रिस्तेदार, मित्र आदि को केवल निःशुल्क मदिरापान करा सकेगा न कि उसे बेच सकेगा। इस लाइसेंस के तहत अंग्रेजी शराब छह बोतल, रम दो बोतल, ब्रांडी दो बोतल, जिन दो बोतल, वोटका दो बोतल, वाइन एक बोतल, टकीला एक बोतल तथा बियर 12 बोतल स्टाक में रख सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here