इंडिया समेत पूरी दुनिया में कोरोना वायरस के खात्मे के लिए टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है. नार्वे में नए साल के चार दिन पहले फाइजर की कोरोना वायरस वैक्सीन को लगाने का काम शुरू किया गया था. हालांकि नॉर्वे में टीका लगने के बाद अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 75 लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है.

Immediately Receive Kuwait Hindi News Updates

नार्वे में पिछले साल 27 दिसंबर को कोविड टीकाकरण अभियान शुरूआत हुई. अब तक देश में 25 हजार से अधिक लोगों को टीका लगाया गया है. नॉर्वे में जिन लोगों की मौत हुई है, उन्होंने वैक्सीन की पहली ही डोज ली थी, जिसके बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई. वहीं, सरकार का कहना है कि जो लोग बीमार हैं और बुजुर्ग हैं, उनके लिए टीकाकरण काफी रिस्क भरा हो सकता है.

ये भी पढ़ेंः बिहार में स्कूल खुलते ही कोरोना ने बरपाया कहर, एक साथ 25 लोग पॉजिटिव…दहशत में बच्चे

टीकाकरण के बाद मरने वाले 29 लोगों में से 13 लोगों की कोरोना वैक्सीन ही मरने की पुष्टि हो चुकी है. जबकि अन्य की मौत के मामले में जांच चल रही है. नॉर्वेयिन मेडिसिन एजेंसी ने कहा कि जिन लोगों की मौत की जांच की गई है, उनमें से कमजोर, बुजुर्ग लोग थे, जो नर्सिंग होम में रहते थे। जिन लोगों की मौत हुई है, उनमें सभी की उम्र 80 साल के ऊपर थी। वहीं शनिवार को मरने वाले छह लोगों की उम्र 75 साल के करीब है.

Get Today’s City News Updates

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here