क्या 8 साल की मासूम बच्ची का 28 साल के लड़के से हुआ विवाह? जानिए वायरल तस्वीर की सच्चाई

0
10

बिहार में दहेज औरर बाल विवाह पर सख्त पाबंदी है. नीतीश सरकार बाल विवाह रोकने के लिए कड़े कानून भी लेकर आई है. पूरे बिहार में जागरुकता अभियान भी चलाई जाती है. बावजूद इसके बाल विवाह का मामला कम नहीं होता है. सोशल मीडिया में 8 साल बच्ची की युवक के साथ शादी बताकर तस्वीरें खूब वायरल हुई.

लोग इसे शेयर करते हुए गरीबी पर बात कर रहे हैं जिसमें कह रहे हैं कि हालात कैसे होंगे कि एक माँ बाप अपनी 8 साल की मासूम बच्ची की शादी एक 28 साल के लड़के से किन परिस्थितियों में किये होंगे. हालांकि, इसकी सच्चाई कुछ अलग है. वायरल हो रही तस्वीर अनु की है जिसकी शादी 26 अप्रैल 2021 को हुई है. इसे फेक बताते हए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट कर लड़की का आधार कार्ड भी दिखाया है जिसमें उसका जन्म 2002 है.

कई पत्रकारों ने शेयर किया पोस्ट

इस तस्वीर को बिहार के कई सीनियर जर्नलिस्ट ने शेयर की है. ट्विटर पर सबसे पहले ज़ी मीडिया के तुषार श्रीवास्तव ने पोस्ट की इसके बाद कई पत्रकारों ने ट्विटर और फेसबु पर फोटो शेयर कर पोस्ट लिखा है. हालांकि तुषार श्रीवास्तव के ट्वीट पर रिप्लाई देते हुए गिरिराज सिंह ने फेक बताया है.

अप्रैल में हुई है लड़की की शादी

वायरल हो रही तस्वीर अनु की है जिसकी शादी 26 अप्रैल 2021 को हुई है. इसे फेक बताते हए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट कर लड़की का आधार कार्ड भी दिखाया है जिसमें उसका जन्म 2002 है. गिरिराज सिंह ने फेसबुक पोस्ट में नवादा जिला प्रशासन की तरफ से जारी की गई प्रेस विज्ञप्ति को भी शेयर किया है. जिसमें पुलिस ने स्पष्ट किया है कि लड़की के बालिग होने पर उनके ननिहाल से ही शादी हुई है. प्रशासन के सत्यापन में आधार कार्ड सही पाया गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here