Agnipath Yojna Protest : केंद्र की भाजपा सरकार की अग्निपथ योजना के विरोध में देश भर में विरोध प्रदर्शन जारी है। सबसे ज्यादा उग्र प्रदर्शन बिहार के जिलों में देखा जा रहा है। यहां हिंसक प्रदर्शनकारी सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के साथ साथ आम आदमी को भी संकट में डाल रहे हैं।

इस धरना-प्रदर्शन के दौरान हिंसा और आगजनी को लेकर रेलवे ने पूर्व मध्य रेल (ईसीआर) के स्टेशनों से गुजरने या पहुंचने वाली ट्रेनों के परिचालन में अस्थायी बदलाव किया है। ट्रेनों को रात आठ बजे से सुबह चार बजे तक चलाया जायेगा। ईसीआर के मुख्य जनसंपर्क पदाधिकारी वीरेंद्र कुमार ने बताया कि शनिवार की रात आठ बजे से 19 जून को अहले सुबह चार बजे तक ही ट्रेनें चलेंगी। पुन: 19 जून को रात आठ बजे से 20 जून को अहले सुबह चार बजे तक चलेगी।

Agnipath Yojna Protest

Also Read : अग्निपथ योजना के खिलाफ उग्र प्रदर्शन को ले बिहार के 12 भाजपा नेताओं को सीआरपीएफ की सुरक्षा

Agnipath Yojna Protest : 19 जून को भी रात आठ बजे के बाद उन्हीं ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ

यानी 19 जून को सुबह चार बजे से लेकर रात आठ बजे तक किसी भी ट्रेन का परिचालन नहीं किया गया। वहीं, 19 जून को भी रात आठ बजे के बाद उन्हीं ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ, जो 20 जून सुबह चार बजे तक गंतव्य तक पहुंच गई। ऐसे में पटना से होकर या यहां से रवाना होने वाली श्रमजीवी, राजधानी, संपूर्णक्रांति, मगध, पूर्वा, विक्रमशीला जैसी अन्य महत्वपूर्ण ट्रेनों का परिचालन रविवार को संभावित नहीं है।

रेलवे ने कहा है कि रेल प्रशासन अब सुरक्षा, संरक्षण एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा एवं सुनिश्चितता के उपरांत ही ट्रेनों का परिचालन प्रारंभ करेगा। शनिवार को इक्का-दुक्का ही ट्रेनें चलीं।

उपद्रवियों ने 60 से अधिक कोच और 10 से अधिक इंजन फूंक डाले। इसके अलावा कई स्टेशनों पर अवस्थित सिगनलिंग सिस्टम, परिचालन से जुड़े उपकरण, यात्री सुविधाओं से जुड़े सामान, टिकट काउंटर इत्यादि को भी भारी नुकसान पहुंचाया गया है। प्रदर्शन के कारण देश भर में 369 ट्रेनें रद्द हुई हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.